देश

खुशखबरीः अब घर बैठे खरीद सकेंगे आर्मी कैंटीन से एसी-लैपटॉप और बहुत कुछ, जानिए कैसे

नई दिल्लीः रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कैंटीन स्टोर्स डिपार्टमेंट-सीएसडी से अगेंस्ट फर्म डिमांड (एएफडी) की वस्तुओं की खरीद के लिए आजऑनलाइन पोर्टल https://afd.csdindia.gov.in/का उद्घाटन किया। इस ऑनलाइन पोर्टल की शुरुआत का उद्देश्य लगभग 45 लाख सीएसडी लाभार्थियों को ऑनलाइन खरीद के प्रोत्साहित करना है, जिसमें सशस्त्र बलों के सेवारत और सेवानिवृत्त व्यक्ति तथा सिविल […]

नई दिल्लीः रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कैंटीन स्टोर्स डिपार्टमेंट-सीएसडी से अगेंस्ट फर्म डिमांड (एएफडी) की वस्तुओं की खरीद के लिए आजऑनलाइन पोर्टल https://afd.csdindia.gov.in/का उद्घाटन किया। इस ऑनलाइन पोर्टल की शुरुआत का उद्देश्य लगभग 45 लाख सीएसडी लाभार्थियों को ऑनलाइन खरीद के प्रोत्साहित करना है, जिसमें सशस्त्र बलों के सेवारत और सेवानिवृत्त व्यक्ति तथा सिविल डिफेंस कर्मचारी शामिल हैं। सभी लाभार्थी इस पोर्टल के ज़रिये ‘अगेंस्ट फर्म डिमांड’ की श्रेणी में आने वाले उत्पाद जैसे कार, मोटरसाइकिल, वाशिंग मशीन, टीवी और फ्रिज आदि की खरीद कर सकते हैं।

इस पोर्टल के शुभारंभ की सराहना करते हुए, रक्षा मंत्री ने सभी जवानों और सशस्त्र बलों के अधिकारियों तथा सेवानिवृत्त व्यक्तियों के कल्याण के प्रति सरकार की प्रतिबद्धता को व्यक्त किया। उन्होंने इस परियोजना के सफल कार्यान्वयन के लिए पूरी टीम की सराहना की। राजनाथ सिंह ने कहा कि, यह परियोजना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दृष्टिकोण डिजिटल इंडिया की सोच के अनुरूप थी।

इस समारोह का आयोजन नई दिल्ली में किया गया था। कारों और मोटरसाइकिलों की डिलीवरी की लाइव स्ट्रीमिंग मुंबई, नई दिल्ली, अहमदाबाद और जयपुरसे उन लोगों के लिए की गई थी, जिन्होंने सीएसडी पोर्टल afd.csdindia.gov.in के ट्रायल रन के दौरान अपनी बुकिंग कराई थी। इस पोर्टल को अब औपचारिक रूप से शुरू कर दिया गया है और यह तेजी से खरीद की सुविधा उपलब्ध कराएगा। यह पोर्टल सभी लाभार्थियों को तेज और परेशानी मुक्त अनुभव प्रदान करेगा।

जानें क्यो उठाया ये कदम?

कोरोना वायरस का असर सेना की कैंटीनों (CSD) पर भी पड़ा है. अनलॉक (Unlock) की प्रक्रिया शुरू होने के बाद भी  मौजूद सेना की कैंटीनों में बिक्री तेजी से गिरी है.

ज्‍यादातर लोग खाने-पीने और साफ-सफाई की चीजें खरीदने के लिए ही सीएसडी पहुंच रहे हैं. कहा जा रहा है कि उपभोक्‍ता बहुत सतर्क होकर पैसे खर्च कर रहे हैं.

मौजूदा समय में सेना की कैंटीन में रोज आने वाले उपभोक्‍ताओं (Consumers) की संख्‍या 50 फीसदी के करीब घट गई है. इसे देखते हुए तमाम सीएसडी में मोबाइल ट्रक्‍स (Mobile Trucks) की सुविधा भी शुरू की गई है ताकि लोगों के दरवाजे पर पहुंचकर रोजमर्रा के सामान (FMCG) और कंज्‍यूमर ड्यूरेबल्‍स (Consumer Durable) की बिक्री की जा सके. एफएमसीजी और कंज्‍यूमर ड्यूरेबल कंपनियों का मानना है कि मांग को कोरोना संकट के पहले की स्थिति में पहुंचने में करीब 6 महीने यानी दो तिमाही का समय लग जाएगा.

Comment here