देश

अमेजन से पाकिस्तानी ‘रूह अफज़ा’ बेचने पर प्रतिबंध

हमदर्द की याचिका पर दिल्ली हाईकोर्ट का आदेश

नई दिल्ली: दिल्ली हाईकोर्ट ने ई-कॉमर्स प्लेटफार्म अमेजन पर पाकिस्तान में निर्मित ‘रूह अफज़ा’ (Rooh Afza) बेचने पर प्रतिबंध लगा दिया है। भारतीय कंपनी हमदर्द (Hamdard) नेशनल फाउंडेशन ने हाईकोर्ट में याचिका दायर कर अपने ब्रॉन्ड के अनाधिकृत प्रयोग की शिकायत की थी। हमदर्द ने बताया था कि पाकिस्तान में निर्मित शर्बत भारत में उसके ब्रॉन्ड के नाम से बेचा जा रहा है इससे उनका नाम खराब हो रहा है।

हमदर्द नेशनल फाउंडेशन (इंडिया) ने दिल्ली हाईकोर्ट में शिकायत की थी कि भारत के हमदर्द के स्वामित्व वाले ‘रूह अफज़ा’ ब्रांड के नाम पर पाकिस्तान में भी शर्बत निर्मित किया जा रहा है। उसके नाम वाला पाकिस्तानी शर्बत अमेजन के माध्यम से भारत में बेचा जा रहा है।याचिकाकर्ता ने दावा किया कि गोल्डन लीफ नाम की एक कंपनी अमेज़न इंडिया पर ‘रूह अफजा’ चिह्न वाले उत्पाद बेच रही है। जबकि रूह अफजा को भारत में हमदर्द बनाती है और उसका बेचे जा रहे शर्बत से कोई लेना-देना नहीं है।

याचिकाकर्ता ने कहा कि बेचा जा रहा प्रोडक्ट, ट्रेडमार्क का उल्लंघन है जिसे पाकिस्तान में निर्मित किया गया है। यह भारतीय कानूनों का भी उल्लंघन करता है। यह भी बताया कि उनके द्वारा तीन विक्रेताओं से अमेज़न प्लेटफॉर्म के माध्यम से तीन खरीदारी की गई है। सभी के उत्पाद का निर्माण हमदर्द प्रयोगशालाओं (वक्फ) पाकिस्तान द्वारा किए जाने का दावा किया गया है।

हाईकोर्ट ने हमदर्द के पक्ष में फैसला सुनाया, जिसने 1907 में ‘रूह अफजा’ ब्रॉन्ड को अपनाया था। दरअसल, कंपनी इस ब्रांड नाम के तहत सालाना 200 करोड़ से अधिक उत्पाद बेचती है। जस्टिस प्रतिभा सिंह ने कहा कि यदि याचिकाकर्ता (हमदर्द) के ‘रूह अफजा’ चिह्न का उल्लंघन करने वाली कोई अन्य लिस्टिंग पाई जाती है तो इसे अमेज़ॅन इंडिया के संज्ञान में लाया जाएगा और इसे ई-कॉमर्स कंपनी द्वारा हटा दिया जाएगा।

बता दें कि हमदर्द नेशनल फाउंडेशन (इंडिया) और हमदर्द दवाखाना, हमदर्द लेबोरेटरीज इंडिया के रूप में भी बिजनेस कर रहा है। जबकि अमेजन पर जो प्रोडक्ट बेचा जा रहा था वह गोल्डेन लीफ द्वारा निर्मित है।