Vijay Mallya

विजय माल्या को बड़ा झटका, लंदन कोर्ट ने दिवालिया घोषित किया

नई दिल्लीः भगोड़े भारतीय कारोबारी विजय माल्या को लंदन हाई कोर्ट ने सोमवार को दिवालिया घोषित कर दिया। हालांकि यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू होता है, लेकिन उसके पास उच्च न्यायालय से अपील करने का विकल्प है। आईसीसी न्यायाधीश ब्रिग्स ने सोमवार दोपहर को घोषित करते हुए कहा, ‘‘इसके कोई सबूत नहीं है कि वह मुकदमे का सामना करने के लिए भारत वापस जाएगा, और इसके भी अपर्याप्त सबूत मिले हैं कि वह उचित समय में पूरा कर्ज चुकाएगा। मैं विजय माल्या को दिवालिया घोषित करता हूं।’’

Afghanforces

अफगान सुरक्षाबलों ने 24 घंटे में 262 तालिबान आतंकियों को किया ढेर

नई दिल्लीः अफगानिस्तान के रक्षा मंत्रालय ने शनिवार (24 जुलाई) को दावा किया कि उनके सुरक्षा बलों ने केवल 24 घंटों में विभिन्न प्रांतों में 262 तालिबान आतंकवादियों को मार गिराया है। बलों ने आगे कहा कि अभियान के दौरान 176 आतंकवादी घायल हुए और 21 तात्कालिक विस्फोटक उपकरणों (आईईडी) को निष्क्रिय कर दिया गया।

Checkmate

रूस ने पांचवीं पीढ़ी के लड़ाकू विमान 'चेकमेट' का अनावरण किया

नई दिल्लीः रूस, जिसने दुनिया को मिग और सुखोई जैसे जबरदस्त लड़ाकू विमान दिए हैं, ने ‘चेकमेट’ नामक एक नए लड़ाकू विमान का अनावरण किया है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में यह विमान यूएस के एफ-35 से मुकाबला करेगा। रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने मॉस्को में MAKS-2021 एयर शो में घरेलू दूसरी पांचवीं पीढ़ी के लड़ाकू विमान का निरीक्षण किया।

Afghan

तालिबान मुख्यधारा में शामिल हों, तभी भारत समर्थन करेंः अफगान एम्बेसडर

नई दिल्लीः अफगानिस्तान की स्थिति को ‘कठिन, विकट और समस्याग्रस्त’ बताते हुए, भारत में देश के राजदूत फरीद ममुंडजे ने कहा है कि दिल्ली को तालिबान को बताना चाहिए कि अगर वे ‘क्षेत्रीय आतंकवादी समूहों’ से संबंध तोड़ते हैं और हिंसा छोड़ देते हैं और मुख्यधारा से जुड़ते हैं, तभी हम उनका सर्मथन करेंगे। अगर तालिबान इन शर्तों को मानता है तो वह अफगानिस्तान को राजनीतिक और कूटनीतिक रूप से समर्थन और सहायता करना जारी रखेगा।

Dalai Lama

दलाई लामा के जन्मदिन पर भड़के चीनी सैनिक भारतीय सीमा डेमचोक में घुसे

नई दिल्लीः भारतीय गांवों में तिब्बती धर्मगुरु दलाई लामा के जन्मदिन के जश्न के विरोध में लद्दाख के डेमचोक में चीनी सैनिकों द्वारा प्रवेश किया गया। रिपोर्टों के अनुसार, चीनी घुसपैठियों ने बैनर और चीनी ध्वज प्रदर्शित करने के लिए सिंधु नदी को पार कर भारतीय सीमा मे प्रवेश किया।