Med

आयुष मंत्रालय का आयुष64 और काबासुरा कुडिनीर के राष्ट्रव्यापी वितरण का अभियान शुरू

नई दिल्ली: देश में कोविड-19 संक्रमण की दूसरी लहर का मजबूती से मुकाबला करने के लिए आयुष मंत्रालय आज से अपनी पॉली हर्बल औषधि आयुष-64 और काबासूरा कुडिनीर को कोविड-19 संक्रमित रोगियों (जो अस्पताल में भर्ती नहीं हैं) को वितरित करने के लिए एक देशव्यापी अभियान शुरू कर रहा है। इन दवाओं की उपयोगिता और प्रभावशीलता बहु-केंद्रीयक्लीनिकल परीक्षणों के माध्यम से साबित हो चुकी है। किरेन रिजिजू, युवा मामले और खेल राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) और आयुष मंत्री (अतिरिक्त प्रभार) द्वारा शुरू किए जा रहे इस अभियान द्वारा यह सुनिश्चित किया जायेगा कि दवाएँ पारदर्शी तरीके से ज़रूरतमंदों तक पहुँचे। अभियान में मुख्य सहयोगी के रूप में सेवा भारती संस्था साथ जुड़ी है।

Yoga

योग को रोजमर्रा के जीवन में अपनाने से महामारी की पीड़ा हो सकती है दूर

नई दिल्ली: आयुष मंत्रालय और युवा मामलों तथा खेल मंत्रालय ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के हवाले से योग को रोजमर्रा के जीवन में अपनाने के लिये आमजन को प्रोत्साहित करने का बीड़ा उठाया है, ताकि आम लोगों की सेहत बेहतर हो सके। दोनों मंत्रालयों ने मिलकर दो मई, 2021 को एक वर्चुअल कार्यक्रम के आयोजन की रूपरेखा बनाई थी। ध्यान रहे कि अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को अब 50 दिन रह गये हैं। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस 2021 आज से दो महीने के भीतर आयोजित होगा।

Ayush

आयुष मंत्रालय ने देशभर में ‘आयुष-64’ की उपलब्धता बढ़ाने के लिए कई कदम उठाए

नई दिल्ली: कोविड -19 महामारी, विशेष रूप से पिछले कुछ हफ्तों में संक्रमण के मामलों में हुई वृद्धि, को देश के सामने सार्वजनिक स्वास्थ्य की सदी की सबसे बड़ी चुनौती के तौर पर देखा गया है। इस अवधि के दौरान, शारीरिक और भावनात्मक स्वास्थ्य समस्याओं का इलाज करने में स्वास्थ्य सेवा की आयुष प्रणालियों की क्षमता का उपयोग बड़े पैमाने पर व्यक्तियों और चिकित्सकों द्वारा समान रूप से किया गया है और इसके कई उल्लेखनीय परिणाम सामने आए हैं।

Ayush

हल्के से मध्यम COVID-19 संक्रमण के उपचार में ‘आयुष 64’ उपयोगी

नई दिल्ली: कोविड-19 महामारी के विश्वव्यापी कहर के बीच ‘आयुष 64’ दवा हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के रोगियों के लिए आशा की एक किरण के रूप में उभरी है। देश के प्रतिष्ठित अनुसंधान संस्थानों के वैज्ञानिकों ने पाया है कि आयुष मंत्रालय की केंद्रीय आयुर्वेद अनुसंधान परिषद (CCRAS) द्वारा विकसित एक पॉली हर्बल फॉर्मूला आयुष 64, लक्षणविहीन, हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के लिए मानक उपचार की सहयोगी (adjunct to standard care) के तौर पर लाभकारी है। उल्लेखनीय है कि आयुष 64 मूल रूप से मलेरिया की दवा के रूप में वर्ष 1980 में विकसित की गई थी तथा कोविड 19 संक्रमण हेतु पुनरुद्देशित (repurpose) की गई है।

Oga

आयुष मंत्रालय योग संस्थान के ऑनलाइन योग प्रशिक्षण कार्यक्रम हजारों लोगों को कर रहे आकर्षित

नई दिल्लीः देश के कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में एकजुट होने के बावजूद कोविड संक्रमण के मामलों की संख्या में हाल में आयी तेजी चिंता का विषय है। इस संदर्भ में, आयुष मंत्रालय के तहत मोरारजी देसाई राष्ट्रीय योग संस्थान (एमडीएनआईवाई) के उच्च गुणवत्ता वाले ऑनलाइन योग प्रशिक्षण कार्यक्रम, जो स्वास्थ्य को बढ़ावा देते और बेचैनी से मुक्त करते हैं, बदले हुए परिदृश्य में आम लोगों को उनके दैनिक जीवन को संतुलित करने के लिए उपयोगी सहायता प्रदान करते हैं। शारीरिक स्वास्थ्य और मानसिक स्वास्थ्य के अलावा, योग कई लोगों के सामने आने वाले गतिविधि संबंधी संकट को दूर करने के लिए एक सकारात्मक मार्ग भी प्रदान करता है जो महामारी के कारण घर पर रहने के लिए मजबूर हैं।