Fashion

बंद गले का फैशन आ रहा है वापस, पुरूषों के साथ महिलओं को भी आ रहा रास

विशेष अवसरों पर अंग्रेजी सूट या टक्सीडो पहनने की प्रथा भारतीय पुरुषों के लिए तेजी से पुरानी होती जा रही है, अब भारतीय युवा बंद गले के कोट और अंगरखा जैसे शाही पोशाकों को पसंद कर रहे हैं। डिजाइनर सब्यसाची मुखर्जी के अनुसार, भारतीय पुरुष, विशेष रूप से दूल्हे, ‘‘अचानक भारतीय होने के महत्व को महसूस कर रहे हैं।’’

Fashion

‘फैशन उद्योग’ आपके करियर को दे सकता है सफलता की नई उड़ान!

फैशन उद्योग (Fashion Industry) एक सदाबहार उद्योग है और फैशन उद्योग में करियर के अपार अवसर हैं लेकिन अक्सर लोग फैशन को सिर्फ फैशन डिजाइनिंग से जोड़ते हैं जो सच नहीं है। फैशन उद्योग में कई और अवसर हैं जो इसे उत्पाद के डिजाइनिंग से लेकर अंतिम उपयोगकर्ता तक उत्पादों की डिलीवरी तक करते हैं। फैशन उद्योग को उस विशेष खंड के मूल्यवर्धन के आधार पर विभिन्न चरणों में विभाजित किया गया है। जैसे- वस्त्र उद्योग, निर्माण उद्योग, व्यापार उद्योग, फुटकर उद्योग

IMG 20210610 WA0008

'अयोध्या रनवे ईव' में मास्क के साथ रैंप पर उतरेंगी मॉडल्स

मुम्बईः अवि किरण एंटरटेनमेंट के तहत अयोध्या रनवे ईव नाम से एक फैशन शो भगवान राम की जन्मभूमि अयोध्या में होने जा रहा है। इस फैशन शो में फैशन जगत से जुड़े कई डिज़ाइनर्स अपने कपड़ों पर की गई खूबसूरती की छटा बिखेरेंगे। डिज़ाइनर सफीना खान भी इस शो की गरिमा बढ़ाएंगी जिनकी कला का जादू बिग बॉस में भी देखने को मिला था। इसी तरह कुवैत के इंटरनेशनल डिज़ाइनर सादिक रज़ा, आशीष, ईशाना पांडे और निधि भी डिज़ाइनर कपड़ों को पेश करेंगी।

Fashion

Lakme Fashion Week में अनन्या पांडे बेस्ट शो स्टॉपर रहीं: रुचिका सचदेव

मुंबई: लैक्मे फैशन वीक और एफडीसीआई की ओर से आयोजित फिजिटल फैशन वीक के ग्रैंड फिनाले में फिनाले डिजाइनर के रूप में रुचिका सचदेव ने अपने कलेक्शन को उतारा। वहीं रुचिका के आउटफिट में अनन्या पांडे शो स्टॉपर बनीं। बता दें कि अनन्या लैक्मे एबस्ल्यूट की ब्रांड अंबेस्डर हैं। वहीं ग्रैंड फिनाले में वो पहली बार शो स्टॉपर बनीं। 

Audition

अबूझमाड़ परिधान रैंप वॉक प्रतियोगिता का पहला आडिशन सम्पन्न

रायपुर : सुदूर वनांचल क्षेत्र के युवक-युवतियों को मंच प्रदान करने के उद्देष्य से जिला प्रषासन नारायणपुर द्वारा अबूझमाड़ पारंपरिक वेशभूषा प्रतियोगिता (रैंपवॉक) का आयोजन किया जा रहा है। इसके पहले आडिषन में 29 प्रतिभागियों ने भाग लिया। प्रतियोगिता का दूसरा आयोजन 9 मार्च को और मुख्य आयोजन 13 मार्च को माता मावली मेला के मुख्यमंच पर किया जाएगा। प्रतियोगिता में स्थानीय युवक-युवतियां पारंपरिक वेश-भूषा, परिधान एवं आभूषणों से सुसज्जित होकर भाग लिया।