छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश गोस्वामी ने किया मेगा लीगल सर्विस कैम्प का वर्चुवल शुभारंभ

Cg6

मुंगेली: राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण (नालसा) नई दिल्ली के तत्वाधान एवं छत्तीसगढ़ राज्य विधिक प्राधिकरण के मार्ग दर्शन में आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत आज जिला कलेक्टोरेट स्थित मनियारी सभा कक्ष में मेगा लीगल सर्विस कैम्प का आयोजन किया गया। छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के संरक्षक न्यायमूर्ति श्री अरूप कुमार गोस्वामी ने विडियो कांन्फ्रेसिंग के माध्यम से मेगा लीगल सर्विस कैम्प का शुभारंभ किया।  विडियो कांन्फ्रेसिंग में जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री अरविंद कुमार सिन्हा, कलेक्टर श्री अजीत वसंत, पुलिस अधीक्षक श्री डी.आर आंचला, अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री पुरूषोत्तम सिंह मरकाम, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट श्रीमति सुषमा लकड़ा, न्यायिक अधिकारीगण सहित चिहांकित हितग्राही शामिल हुए। इस अवसर पर जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री सिन्हा और कलेक्टर श्री वसंत ने संयुक्त रूप से विभिन्न विभागों के चिन्हाकित 372 हितग्राही 78 लाख 70 हजार से अधिक की राशि से लाभान्वित किया गया।

जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री सिन्हा ने मेगा लीगल सर्विस कैम्प को संबोधित करते हुए कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के अवसर पर पूरे छत्तीसगढ़ राज्य में लोगों को कानूनी अधिकार और अन्य अधिकारों का लाभ दिलाना के उद्देश्य से मेगा लीगल सर्विस कैम्प का आयोजन किया जा रहा है। जो न्याय के दिशा में उत्तम और कारगर कदम है। उन्होने कहा कि कोई भी व्यक्ति कानून से ऊपर नहीं है। उन्होने कहा कि संविधान में समान विधिक सेवा सभी नागरिकों को उपलब्ध कराने अनुछेदो का जिक्र किया गया है। निःशुल्क विधिक सेवा सभी नागरिकों का अधिकार है और प्रयास हो कि सभी नागरिकों को इसकी जानकारी हो। इस संबंध में उन्होने आम लोगों को विधिक सेवा के प्रति और अधिक जागरूक होनी चाहिए। उन्होने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत अखिल भारतीय जागरूकता और आउटरीच अभियान के अंतर्गत 02 अक्टूबर से प्रत्येंक गांव में साक्षरता शिविर का आयोजन किया जा रहा है। इस शिविर का आयोजन 14 नवम्बर किया जाएगा। 

कलेक्टर श्री वसंत ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि इस कैम्प के माध्यम से शासन की योजनाओं के बारे में हितग्राहियों को जानकारी दी जा रही है। जो एक अच्छी पहल है। उन्होने कहा कि हम अपने अधिकारों के प्रति जितना जागरूक होंगे उतना ही बेहतर समाज का निर्माण होगा। उन्होने कहा कि हम अपने अधिकार और कर्तव्य दोनो को समझे और समझकर कार्य करें। मेगा लीगल सर्विस कैम्प को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री मयंक सोनी ने भी संबोधित किया। तत्पश्चात् जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री सिन्हा और कलेक्टर श्री वसंत ने संयुक्त रूप से विभिन्न विभागों के चिन्हाकित 372 हितग्राही 78 लाख 70 हजार से अधिक की राशि से लाभान्वित किया गया। इनमें समाज कल्याण विभाग के 45 हितग्राहियों को 2 लाख 37 हजार रूपये की राशि का चेक तथा 49 उपकरण, महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा 16 हितग्राहियों को 13 लाख 25 हजार रूपये की राशि की चेक, श्रम विभाग द्वारा 43 हितग्राहियों को 03 लाख 37 हजार रूपये का चेक, मुंगेली अनुभाग के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व द्वारा 54 लाख रूपये का चेक जनपद पचंायत मुंगेली द्वारा 135 हितग्राहियों को 6 लाख 75 हजार रूपये का चेक शामिल है। इसी तरह कृषि विभाग द्वारा 10 हितग्राहियों को बीज मिनीकिट प्रदान किया। इसके अलावा 26 हितग्राहियों को प्रमाण पत्र भी प्रदान किया गया। इस अवसर पर जिला पंचायत के मुख्य कार्य पालन अधिकारी श्री रोहित व्यास,  प्रथम व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-01 मुंगेली श्रीमति श्रुति दुबे, व्यवहार न्यायाधीश वर्ग-02 मुंगेली श्री लोकेश कुमार बंजारे सहित न्यायिक अधिकारी और बड़ी संख्या में हितग्राही उपस्थित थे। आगन्तुकों के प्रति संयुक्त कलेक्टर श्री तीर्थराज अग्रवाल ने आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन जिला कलेक्टोरेट के अधीक्षक श्री अशोक सोनी ने किया।

Add comment


Security code
Refresh