मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक योजना से दूरस्थ अंचलों में स्वास्थ्य सुविधाओं की पहुंच हुई आसान

Cg5

नारायणपुर : मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लीनिक योजना राज्य शासन की ऐसी महत्वाकांक्षी योजना है, जिसने प्रदेश में दूरस्थ गाँवो एवं वनांचलों में रहने वाले लोगों को घर तक स्वास्थ्य सुविधा पहुंचाई है। हाट-बाज़ारों में मोबाइल मेडिकल यूनिट (एमएमयू) शिविर के माध्यम से लोगों की निःशुल्क जांच और उपचार कर दवाइयां उपलब्ध करायी जा रही है, जो ऐसे क्षेत्रों में वरदान बनकर उभरी हैं। मुखयमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में शासन के निर्देशानुसार नारायणपुर जिले में हाट-बाज़ारों में स्वास्थ्य शिविर लगाए जा रहे है। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार 01 अप्रैल 2021 से अब तक जिले में कुल 1 हजार सात सौ लाभार्थियों ने हाट बाजार क्लीनिक में स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ उठाया, जिसमें विकासखंड नारायणपुर से 1299 एवं विकासखंड ओरछा से 432 से अधिक लाभार्थी शामिल है। अब तक 1 हजार सात सौ मरीजों को निःशुल्क दवाईयों का वितरण भी किया गया है। हितग्राही बताते हैं कि साप्ताहिक हाट-बाजार तो जाते ही है, यहां ही हाट बाजार क्लीनिक में उन्होंने जांच भी करवा लेते हैं, यहां मिले इलाज एवं दवाइयों से उन्हें आराम मिलता है।

स्वास्थ्य शिविर में शामिल मोबाइल मेडिकल यूनिट टीम बताती है कि टीम के गांव पहुचते ही बडी संख्या में ग्रामीण स्वास्थ्य शिविर में जॉच कराने पहुंच रहे हैं। यहां एब्डोमिनल पेन, हाई बीपी, शुगर, दुर्घटना के मामले, खून की जांच, लिवर, हड्डी रोग, आंख-कान-गला, डायरिया और रैपिड एंटीजन किट से कोविड जांच भी टीम द्वारा की जा रही है। साथ ही ग्रामीणों को निःशुल्क दवाईयां वितरण की जाती हैं और बारिश के मौसम में विशेष सतर्कता बरतने की सलाह भी देते हैं।

हाट-बाजार क्लिनिक में मेडिकल टीम के द्वारा मरीजों को प्राथमिक उपचार के साथ टीकाकरण, एनीमिया, कुपोषण से बचाव तथा सुरक्षित संस्थागत प्रसव के बारे में भी विस्तारपूर्वक जानकारी दी जाती है। स्वास्थ्य विभाग से उपलब्ध जानकारी के अनुसार हाट-बाजार क्लीनिक में एनीमिया, मलेरिया, डायरिया, एचआईव्ही, टीबी, लेप्रोसी, बीपी, हाई बीपी, मधुमेह, नेत्र जांच एवं गर्भवती महिलाओं की जांच समेत अन्य मौसमी बीमारियों एवं कोविड-19 की जांच की जाती है। इसके साथ ही टीकाकरण भी किया जाता है।

Add comment


Security code
Refresh