Sushant1

सुशांत की मौत से उनकी भाभी को लगा गहरा आघात, सदमे से दम तोड़ा

नई दिल्लीः बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत के सदमे से अभी उनका परिवार उबरा भी नहीं था कि उन्हें एक और बुरी खबर का सामना करना पड़ा। सुशांत आत्महत्या की खबर उनकी भाभी सुधा देवी बर्दाश्त नहीं कर पाईं, जिसके चलते उनकी इस सदमे से मौत हो गई। उनकी मौत ठीक उस समय पर हुई, जब मुंबई में सुशांत का अंतिम संस्कार हो रहा था। सुशांत की भाभी सुधा देवी जबसे उनकी मौत की खबर सुनी तब से ही उन्होंने खाना-पीना छोड़ दिया था। सुधा देवी सुशांत सिंह राजपूत के पैतृक गांव पूर्णिया के मलडीहा में रहती थीं।

Tejasviyadav

बिहार में मानसून आगमन, राजनीतिक दलों के बीच पोस्टर वार जारी

पटनाः बिहार में मानसून आगमन से जहां मौसमी पारा घट गया है वहीं राजनीतिक दलों के बीच पोस्टर वार का मीटर बढ़ता ही जा रहा है। जदयू समर्थकों के पोस्टर लगाए जाने के बाद अब राजद ने फिर पोस्टर जारी कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधा है। पोस्टरों की लड़ाई में वार पलटवार भी हो रहा है।

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सोमवार को प्रेस कांफ्रेंस कर कोरोना में व्यवस्था को लेकर सरकार को घेरा। तेजस्वी यादव ने कहा कि सीएम को बाहर निकलकर गरीबों से मिलना चाहिए। मुख्यमंत्री जी 90 दिनों से गायब क्यों हैं। कुछ ऐसा ही पोस्टर में भी लिखा है, ‘‘पूछ रहा सारा बिहार कहां छिपे हो नीतीश कुमार’’, जिसे तेजस्वी यादव ने जारी किया है। तेजस्वी यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री जी के 100 दिन गायब होने पर 24 जून को गांव-गांव ढोल पीटकर इसकी मुनादी करवायेंगे। राजद कार्यकर्ताओं को पोस्टरों को राज्य की पंचायतों में भी लगाने को कहा गया है।

Jitan Ram Manjhi

बिहार विधानसभा चुनावः Ex CM के बयान में महागठबंधन में बिखराव के संकेत

पटनाः बिहार में विधानसभा चुनाव की तैयारी धीरे-धीरे जोर पकड़ रही है। राजनितिक दल अपने राजनितिक प्रतिद्वंदी से भिड़ने से पहले की प्रक्रिया शुरू कर चुके हैं। इस प्रक्रिया के तहत गठबंधन के घटक दल सीटों को लेकर अपने साथी दलों पर मानसिक दबाव बनाना शुरू कर चुके हैं। इसी कड़ी में महागठबंधन का एक घटक दल ‘हिंदुस्तान अवाम मोर्चा’ के मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी का हालिया बयान इसका स्पष्ट उदाहरण है।

Sushant1

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर देश स्तब्ध, गमगीन पटना

बाॅलीवुड के लोकप्रिय अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के अचानक इस तरह दुनिया को अलविदा कहने से पूरा देश स्तब्ध है। सुशांत के आत्मघाती कदम पर सहसा किसी को विश्वास नहीं हो पा रहा है। राजीव नगर, पटना स्थित उनके घर पर रिश्तेदारों, पड़ोसियों, प्रशंसको का जमावड़ा लगा है। पिता एके सिंह सदमे में हैं। हर कोई गमगीन है। लोगों के जेहन में एक ही सवाल उठ रहा है सुशांत तुने यह क्या कर डाला।

RamVilas Paswan

क्या आरक्षण फिर से बनेगा बिहार में चुनावी मुद्दा?

पटनाः सुप्रीम कोर्ट की आरक्षण को लेकर हालिया टिप्पणी से बिहार के चुनावी मैदान में एक बार फिर आरक्षण को लेकर बहस छिड़ गई है। तमिलनाडु के राजनीतिक दलों द्वारा मेडिकल कॉलेजों में ऑल इण्डिया कोटा में ओबीसी को पचास फीसदी आरक्षण दिए जाने की मांग से संबंधित याचिका पर सुनवाई करने से सुप्रीम कोर्ट ने इनकार कर दिया। जस्टिस एल नागेश्वर राव की पीठ ने कहा कि आरक्षण का अधिकार मौलिक अधिकार नहीं है। नेताओं ने सुप्रीम कोर्ट के आरक्षण पर की गई टिप्पणी पर नाराजगी जताई है। इसको लेकर बिहार में बैठको का दौर शुरू हो गया है। सभी दलों के अनुसूचित जाति और जनजाति के नेता आरक्षण को लेकर लामबंद होने लगे हैं।