Corona Pandemic: बिहार में कोरोना से आफत, दो IAS अधिकारियों सहित 14 लोगों की मौत

Corona

पटनाः कोरोना वायरस महामारी तेजी से पूरे देश को अपनी चपेट में ले रही है। भारत में पिछले 24 घंटे में 184,372 मामले और 1,027 मौतें दर्ज की हैं। बिहार ने मंगलवार को पिछले 24 घंटों के दौरान 14 कोविड-19 की मौत की सूचना मिली, जिसमें एक शीर्ष राज्य अधिकारी और एक जिला प्रतिरक्षण अधिकारी शामिल हैं। बिहार में 4,157 नए मामले दर्ज किए गए हैं, जिसमें अकेले पटना में ही 1,205 मामले सामने आए हैं।

बिहार में 14 लोगों की मृत्यु हुई, जिसमें विजय रंजन (59) आईएएस अधिकारी, निदेशक, पंचायती राज विभाग और वैशाली के जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ ललन कुमार राय (62) भी शामिल हैं।

पटना विश्वविद्यालय में भौतिकी के सेवानिवृत्त प्रोफेसर सैयद मकबूल करीम का भी एम्स पटना में कोविड-19 से निधन हो गया। उन्हें 1 अप्रैल को वहां भर्ती कराया गया था। वे पटना में आर्यभट्ट ज्ञान विश्वविद्यालय के कार्यवाहक कुलपति एसएम करीम के भाई हैं।

ताजा 14 मौतों के साथ इस महामारी से राज्य में कुल मौत 1,630 हो गई थी, जिसमें पटना में अधिकतम 475 मौतें हुई थीं।

बिहार में 1 अप्रैल को 488 संक्रमणों की रिपोर्ट के बाद मामलों में आठ गुना से अधिक की वृद्धि देखी गई है। पिछले महीने केवल 350 के तहत सक्रिय मामलों की संख्या भी 20,148 हो गई थी।

रक्षा अनुसंधान विकास संगठन (डीआरडीओ) की एक टीम को बुधवार को बिहटा के ईएसआई अस्पताल में 500 बेड के समर्पित कोविड-19 देखभाल केंद्र को फिर से खोलने की संभावनाओं का पता लगाने के लिए यहां उम्मीद की गई थी। केंद्र ने पिछले साल इस तरह के दो केंद्र, एक पटना और दूसरा मुजफ्फरपुर में खोला था।

उन्होंने राज्य सरकार से मांग की कि 60 वर्ष से अधिक आयु के डॉक्टरों को कोविड-19 ड्यूटी नहीं दी जानी चाहिए, साथ ही उन्हें कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण और हर संभव सावधानी बरतने की भी अपील की गई है।

पिछले साल कोरोना महामारी की शुरुआत होने से लेकर अबतक बिहार में इससे संक्रमित होने वालों की संख्या 290385 पहुंच गई है, जिनमें 2,68,606 मरीज ठीक हुए हैं। उनमें पिछले 24 घंटे के अंदर स्वस्थ हुए 636 मरीज भी शामिल हैं।

बिहार में पिछले 24 घंटों के दौरान कुल 93,523 सैम्पल की जांच की गई जबकि गत साल कोरोना महामारी की शुरुआत होने से लेकर अबतक प्रदेश में 2,47,43,506 नमूनों की जांच की गई है। बिहार में वर्तमान में कोविड-19 के उपचाररत मरीज 20148 हैं और स्वस्थ होने की दर 92.50 प्रतिशत है।

बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने मंगलवार को पटना स्थित कोविड अस्पताल नालंदा मेडिकल कालेज अस्पताल का दौरा किया और मरीजों एवं चिकित्सकों से मिल कर चिकित्सा एवं व्यवस्था सम्बन्धित जानकारी ली और आवश्यक निर्देश दिए।

Add comment


Security code
Refresh