जोनाई प्रशासन और दुर्गा पूजा समितियों के बीच बैठक संपन्न

Jj5

जोनाईः धेमाजी जिले के जोनाई महकमाधिपति कार्यालय के सभाकक्ष में आज महकमा के 12  दुर्गा पूजा आयोजन समितियों की एक बैठक की गई। सभा की अध्यक्षता महकमाधिपति प्रदीप कुमार द्विवेदी (आईएएस) ने की। सभा में सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी नयनमणि दत्त, मुरकंगसेलेक जनजाति प्रखण्ड विकास अधिकारी ईश्वर प्रसन्न सुतिया, महकमा स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. किशोर कुमार कामान सहित महकमा के 12 दुर्गा पूजा समितियों के पदाधिकारी उपस्थित थे।

आगामी शारदीय दुर्गा पूजा व काली पूजा सहित विभिन्न त्योहारों को देखते हुए महकमा प्रशासन ने इस अवधि के दौरान कोरोना महामारी की स्थिति को नियंत्रण में रखने के लिए कुछ जरूरी एहतियाती उपायों के साथ आगामी दुर्गा पूजा और शरद ऋतू के मौसम के त्योहारों को आयोजित करने के लिए एक नई मानक परिचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी किया है।

कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए श्रद्धालु के सुरक्षित आवागमन के लिए स्वयंसेवकों की नियुक्ति करनी होगी। आयोजन समिति के प्रत्येक सदस्य, स्वयंसेवकों, उपासकों के साथ-साथ भक्तों को पूजा स्थल में आने वालों को कोरोना वैक्सीनेशन खुराक लेना अनिवार्य होगा। बिना वैक्सीनेशन लगवाए लोग कार्यक्रम में शामिल नहीं हो पाएंगे। आयोजकों या पूजा समितियों को बड़ी संख्या में उन स्वयंसेवकों की तैनाती करनी होगी, जो कोरोना टीकाकरण करवा चुके हैं। स्वयंसेवक यह सुनिश्चित करेंगे कि श्रद्धालु मास्क पहने, हाथों को सेनेटाइज करे और न्यूनतम शारीरिक अंतराल से बचने के लिए कोरोना के नियमों का पालन करें और स्वयं इस नियम का भी पालन करेंगे। 

महकमाधिपति प्रदीप कुमार द्विवेदी ने कहा कि इस बार पुजा पंडाल, मेला, सांस्कृतिक कार्यक्रम और जुलूस आयोजित करने की अनुमति नहीं दी जायेगी। साथ ही महकमा प्रशासन की ओर से पूजा समितियों को 6 से 10 फीट तक प्रतिमा स्थापित करने की अनुमति दी गई है। साथ ही पूजा के दौरान एक समय पर चालीस भक्तों को दर्शन की अनुमति दी गई है। साथ ही प्रशासन की ओर से पूजा के दौरान कोविड़-19 के दिशानिर्देशों का सख्ती से पालन करने को कहा गया हैं।