आग्सु ने विभिन्न समस्याओं के समाधान के लिए ‘गोरखा गर्जन’ कार्यक्रम का आयोजन किया

Jj1

जोनाईः अखिल असम गोरखा छात्र संघ कि धेमाजी जिला समिति के तत्वावधान में और आंचलिक समितियों के सहयोग से आज गोरखा स्वायत शासित परिषद की गठन, जनजातिकरण, बेल्ट एवं ब्लाक अंचल में रहने वाले गोरखा लोगों के भूमि का अधिकार, डी वोटर समस्या  सहित अपनी विभिन्न समस्याओं की स्थाई समाधान के लिये असम सरकार द्वारा ध्यान नहीं देने का आरोप लगाते हुए आज ‘गोरखा गर्जन’ नामक कार्यक्रम का आयोजन किया। 

जोनाई उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के खेल मैदान में आयोजित इस ‘गोरखा गर्जन’ कार्यक्रम में हजारों कि संख्या में उपस्थित गोरखा लोगों ने जमकर नारेबाजी की। आगसु जिन्दाबाद, जय गोरखा, बीजेपी सरकार सावधान, गोर्खाओं की भूमि की समस्या का स्थाई समाधान करो, नो जीएसी नो रेस्ट, गोर्खाओं को संवैधानिक सुरक्षा प्रदान करों, गोर्खाओं को जनजातीय मर्यादा प्रदान करो, गोर्खाओं का आधार कार्ड के समस्याओं का समाधान करों आदि नारों से अंचल को गुंजायमान कर दिया।

गोरखा गर्जन स्थल पर उपस्थित गोरखा छात्र संघ के जिला समिति के अध्यक्ष सोमनाथ पुरी ने संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि सन 2016 मे गठित भाजपा गठबंधन सरकार ने उपरोक्त विभिन्न ज्वलंत समस्याओं का समाधान करने का आश्वासन दिया था। मगर आज तक सरकार द्वारा इन समस्याओं का समाधान नहीं करने के कारण आज गोरखा गर्जन कार्यक्रम का आयोजन किया गया है । अगर समय रहते सरकार हमारी मांगों पर ध्यान नहीं दिया तो आने वाले दिनों में गोरखा वोट वर्जन का कार्यक्रम का निर्णय भी ले सकता है। गोरखा छात्र संघ के सचिव शाहीत थापा ने कहा कि हम लोग ट्राइबल बेल्ट एवं ब्लाक एरिया में रहते है। जब गोरखा लोग भूमि मयादी पट्टा कराने कार्यालय जाते हैं, तो उनसे कार्यालय 1951 के पहले का कागजात लेकर आने का मांग करता है। कागजात न होने पर मियादी पट्टा से वंचित होना पड़ता है। जिस कारण हमारे लोगो को काफी असुविधा का सामना करना पड़ता है।