टी20 वर्ल्ड कपः हार्दिक पंड्या पर फैसला 15 अक्टूबर तक लिया जाएगा

Hardik

नई दिल्लीः भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) को टी20 विश्व कप के लिए चुनी गई टीम में बदलाव के लिए पांच दिन और मिल गए हैं। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को अंतिम टीम जमा करने की समय सीमा 15 अक्टूबर है। चयनकर्ता ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या की उपलब्धता पर चिंतित हैं और टीम में एक तेज गेंदबाज को जोड़ने पर विचार कर रहे हैं, जो बैटिंग भी कर सके।

बीसीसीआई के एक शीर्ष अधिकारी ने रविवार को टीओआई को बताया, ‘‘चयनकर्ता इंतजार करेंगे और देखेंगे कि अगले कुछ दिनों में हार्दिक कैसा प्रदर्शन करते हैं। चयनकर्ता सिर्फ तीन वास्तविक तेज गेंदबाजों के साथ गए क्योंकि यह माना जाता था कि हार्दिक अपने ओवरों के कोटे के लिए पर्याप्त फिट होंगे। चूंकि उन्होंने बिल्कुल भी गेंदबाजी नहीं की है, इसलिए एक अतिरिक्त गेंदबाज पर विचार किया जा रहा है।

टीम की घोषणा करने की समय सीमा 10 अक्टूबर थी, लेकिन यह केवल उन टीमों के लिए थी जो क्वालीफायर खेल रही हैं जो 17 अक्टूबर से शुरू हो रहे हैं। टीम अपनी समर्थन अवधि शुरू होने से सात दिन पहले अपनी टीमों को बदल सकती हैं। भारत की सपोर्ट पीरियड सुपर 12 से शुरू होता है जो 23 अक्टूबर से शुरू होगा। इसलिए, उनके पास 15 अक्टूबर की आधी रात तक टीम बदलने का समय है।

मीडिया समझता है कि चयनकर्ता पूरी तरह से आश्वस्त होना चाहते हैं कि हार्दिक सभी मैचों में गेंदबाजी करने के लिए पर्याप्त रूप से फिट होंगे। हार्दिक ने अब तक मुंबई इंडियंस के लिए गेंदबाजी नहीं की है और उनके कप्तान रोहित शर्मा ने दावा किया था कि एक और सप्ताह में उनकी स्थिति का आकलन किया जाएगा।

चेन्नई सुपर किंग्स के तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर और दीपक चाहर पहले से ही स्टैंडबाय में हैं। जरूरत पड़ने पर उनमें से किसी एक को मुख्य टीम में शामिल किया जा सकता है। बीसीसीआई के सूत्र ने कहा, ‘‘यह तय नहीं है कि अगर हार्दिक को गेंदबाजी के लिए तैयार नहीं किया गया तो उन्हें पूरी तरह से बाहर कर दिया जाएगा। लेकिन वह एक ऑलराउंडर के रूप में काफी समय से बाहर चल रहे हैं। अगर ठाकुर और दीपक में से किसी एक का चयन हो जाता है, तो चयनकर्ता हर्षल पटेल से पूछ सकते हैं।’’

बीसीसीआई और चयनकर्ताओं ने मन बना लिया था कि जब तक फिटनेस को लेकर चिंता नहीं होगी तब तक वे टीम में बदलाव नहीं करेंगे। मिस्ट्री स्पिनर वरुण चक्रवर्ती की फिटनेस भी सवालों के घेरे में रही है। सूत्र ने बताया, ‘‘चक्रवर्ती को एक एक्स-फैक्टर के रूप में देखा जाता है और टीम प्रबंधन उन्हें टीम में रखने के लिए बहुत उत्सुक है। लेकिन उनके घुटनों की स्थिति का भी आकलन किया जाएगा। यह देखने की जरूरत है कि क्या टीम के मेडिकल स्टाफ के माध्यम से उन्हें प्रबंधित करने के लिए आश्वस्त है या नहीं।’’

बीसीसीआई ने अभी यह तय नहीं किया है कि क्या वे टीम के सदस्यों के परिवारों को टी20 विश्व कप के लिए रुकने देंगे। बोर्ड इस मामले में सीनियर खिलाड़ियों के संपर्क में है। मैनचेस्टर में पिछले महीने के उपद्रव से आशंकाएं उपजी हैं जब खिलाड़ियों ने शिविर में कोविड-19 के प्रकोप के बाद अपने परिवारों की सुरक्षा के डर से इंग्लैंड के खिलाफ पांचवां टेस्ट खेलने से इनकार कर दिया।
बीसीसीआई के एक सूत्र ने कहा, ‘‘अभी तक परिवार आईपीएल के लिए रुके हुए हैं। विराट कोहली का परिवार वापस आ गया है। इस पर फैसला लिया जाएगा कि उन्हें विश्व कप के लिए वापस रहने दिया जाएगा या नहीं।’’

आईसीसी ने केवल करीबी परिवार को ही बायो बबल में रहने की अनुमति दी है। यदि कोई भी अनहोनी होती है तो आईसीसी विशेषज्ञ पैनल स्थिति को संभालेगा।

(एजेंसी इनपुट के साथ)

Add comment


Security code
Refresh