प्रसिद्ध 'शूटर दादी' चंद्रो तोमर का निधन, कोरोना से थीं पीड़ित

Shooter

नई दिल्लीः अनुभवी शूटर चंद्रो तोमर, जिन्हें ‘शूटर दादी’ के नाम से जाना जाता है, का कोविड-19 के कारण निधन हो गया है। वह 89 वर्ष की थीं। चंद्रो तोमर को इस हफ्ते की शुरुआत में कोविड-19 पाॅजिटिव होने के बाद उत्तर प्रदेश के मेरठ के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया था। आज तीन बजे उन्होंने अंतिम सांस ली।

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने दुख प्रकट करते हुए ट्वीट किया, ‘‘लैंगिक समानता और महिलाओं के अधिकारों की चैंपियन श्रीमती चंद्रो तोमर का एक प्रसंग, जिसे उनके प्रशंसकों द्वारा ‘शूटर दादी’ के रूप में जाना जाता है, और अब वह हमारे बीच नहीं है। जिस साहस के साथ उसने पितृसत्ता को चुनौती दी और एक खेल के रूप में शूटिंग को आगे बढ़ाया, वह आने वाली पीढ़ियों को प्रेरित करेगा। मेरी उनके परिवार के प्रति संवेदना है।’’

Tw5

डाॅ. रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने ट्वीट कर दुख प्रकट किया, उन्होंने लिखा,‘‘शूटर दादी के नाम से सुप्रसिद्ध चंद्रो तोमर जी के निधन का समाचार बेहद दुखद है। विपरीत परिस्थितियों में भी उन्होंने उम्र को बाधा न मानते हुए खेल जगत में अपना विशेष मुकाम बनाया। मैं भगवान बद्री केदार जी से पुण्य आत्मा की शांति एवं परिजनों को धैर्य प्रदान करने हेतु प्रार्थना करता हूं।’’

Tw4

यूपी के बागपत से ताल्लुक रखने वाली चंद्रो तोमर ने 65 साल की उम्र में प्रतिस्पर्धी शूटिंग शुरू की। उन्होंने अपने करियर में 30 से अधिक राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं और कई अन्य प्रतियोगिताओं में जीत हासिल की। उनकी भाभी प्रखर तोमर भी दुनिया की सबसे पुरानी शार्पशूटर में से एक हैं।

उनके जीवन पर 2019 में बॉलीवुड फिल्म ‘सांड की आंख’ से प्रेरित किया, जिसमें तापसी पन्नू और भूमि पेडनेकर ने मुख्य भूमिकाएं निभाईं थी। दोनों अभिनेत्रियों ने दिग्गज शूटर को श्रद्धांजलि दी। कई राजनेताओं और बॉलीवुड हस्तियों दिग्गज शूटर को श्रद्धांजलि दी।

Tw6

गांव की पृष्ठभूमि पर बनी बॉलीवुड फिल्म सांड की आंख मृतका दादी चंद्रो तोमर और उनकी देवरानी प्रकाशी तोमर की रियल लाइफ स्टोरी पर ही आधारित है। अभिनेता आमिर खान के अपने शो सत्यमेव जयते में भी वह शामिल हुई थी। शूटर दादी के नाम से मशहूर चंद्रो ने कई राज्यस्तरीय प्रतियोगिताएं भी जीती और उनको विश्व की सबसे उम्रदराज निशानेबाज भी माना जाता था।

Add comment


Security code
Refresh