धोनी की माता-पिता भी आए कोरोना की चपेट में, रांची के निजी अस्पताल में भर्ती

Dhoni

नई दिल्लीः पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के पिता पान सिंह और मां देवकी देवी ने कोरोनो वायरस कोविड-19 के लिए सकारात्मक परीक्षण किया है। सूत्रों से पता चला है कि पान सिंह और देवकी देवी दोनों को रांची के पल्स सुपरस्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उल्लेखनीय है कि धोनी वर्तमान में इंडियन प्रीमियर लीग 2021 में चेन्नई सुपर किंग्स का नेतृत्व कर रहे हैं। सीएसके बुधवार को वानखेड़े स्टेडियम में कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ आईपीएल 2021 का अपना चौथा मैच खेलने के लिए तैयार है।

झारखंड में कोरोना वायरस के कारण फैला संक्रमण बेकाबू होता जा रहा है। अनियंत्रित हालात पर नियंत्रण पाने के लिए झारखंड सरकार ने प्रदेश में लॉकडाउन लगाने का ऐलान कर चुकी है। इस बीच अस्पताल के डॉक्टर्स का कहना है कि धोनी के माता-पिता की स्थिति सामान्य है और उनका ऑक्सीजन लेवल ठीक है. यही नहीं, अब तक कोरोना वायरस का संक्रमण दोनों लोगों के फेफड़ों तक नहीं पहुंचा है। इसके साथ इलाज कर रहे डॉक्टर्स ने उम्मीद जताई है कि अगले कुछ दिनों में धोनी के पिता पान सिंह और माता देविका देवी संक्रमण मुक्त हो जाएंगे।

बता दें कि झारखंड में कोरोना वायरस का कहर जारी है और इस बीच राज्य सरकार ने कोरोना चेन को तोड़ने के लिए एक सप्ताह का लॉकडाउन लगा दिया है। इसे ‘स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह’ का नाम दिया गया है। सरकार ने 22 अप्रैल सुबह 6 बजे से 29 अप्रैल सुबह 6 बजे तक के लिए राज्य में लॉकडाउन लगाने की घोषणा की है। सीएम हेमंत सोरेन ने लॉकडाउन की घोषणा करते हुए कहा कि राज्य में कोरोना संक्रमण का चेन ब्रेक करना जरूरी है। हमारी प्राथमिकता जीवन और जीविका दोनों सुरक्षित करना है। इसलिए राज्य में ‘स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह’ लागू करने का निर्णय लिया गया है। विश्वास है इस कदम से हम कोरोना चेन को तोड़ पाएंगे।

झारखंड में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण से 46 और मरीजों की मौत हो गयी जिससे राज्य में मृतक संख्या बढ़कर 1502 हो गयी है। इस बीच कोरोना संक्रमण के 4401 नये मामले सामने आने से संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 167346 हो गयी है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, राज्य में 167346 संक्रमितों में से 135256 अब तक ठीक होकर अपने घरों को लौट चुके हैं। इसके अलावा 30588 अन्य कोरोना संक्रमितों का इलाज विभिन्न अस्पतालों में जारी है।

Add comment


Security code
Refresh