Climatechange

पृथ्वी पर 2021 से 2025 के बीच एक साल बन सकता है गर्मी का रिकार्डः रिपोर्ट

in Op-ed

इस बात की 90 फ़ीसद उम्मीद है कि साल 2021-2025 के बीच कम से कम एक साल ऐसा होगा जो अब तक सबसे गर्म साल होने का रिकॉर्ड बनाएगा और पिछले रिकार्ड होल्डर, 2016 और 2020, को पीछे छोड़ देगा। इस बात का ख़ुलासा हुआ है वर्ल्ड मेट्रोलॉजिकल आर्गेनाइजेशन (डब्लूएम्ओ) और UK MET यूके (यूनाइटेड किंगडम) मेट (मौसम) कार्यालय की सालाना जारी होने वाली ताज़ा टू ग्लोबल क्लाइमेट अपडेट  नाम की रिपोर्ट में, जो अगले पांच वर्षों के लिए जलवायु परिवर्तन से होने वाले प्रभावों की भविष्यवाणी करती है।

Netzero

संयुक्त राष्ट्र की नेट जीरो दौड़ में शामिल हुए 18 देशों के स्वास्थ्य संस्थान

in Op-ed

अगले दस सालों में कार्बन एमिशन को आधा करने और 2050 तक नेट ज़ीरो एमिशन का स्तर प्राप्त करने के लिए 18 देशों में 3,000 से अधिक सुविधाओं का प्रतिनिधित्व करने वाले स्वास्थ्य देखभाल संस्थान प्रतिबद्ध हो गये हैं। रेस टू ज़ीरो अभियान में शामिल होने वाले इन अस्पतालों और स्वास्थ्य प्रणालियों के पहले समूह की घोषणा हेल्थ केयर विदाउट हार्म, रेस टू ज़ीरो हेल्थ केयर पार्टनर, संयुक्त राष्ट्र उच्च स्तरीय जलवायु चैंपियन, COP25, गोंज़ालो म्यूनोज़ ने की। रेस टू ज़ीरो के कड़े प्रवेश मानदंडों द्वारा मान्यता प्राप्त, दुनिया भर से 40 स्वास्थ्य देखभाल संस्थानों के क़रीब, 18 देशों में 3,000 से अधिक स्वास्थ्य देखभाल सुविधाओं का प्रतिनिधित्व करते हुए, ने 2030 तक उत्सर्जन को आधा करने और 2050 से पहले नेट ज़ीरो तक पहुंचने के लिए सार्वजनिक प्रतिबद्धताएं की हैं।

CO2

CO2 उत्सर्जन में कटौती करने का आदेश, यह फैसला दुनिया बदल देगा

in Op-ed

एक ऐतिहासिक फैसले में, हेग की एक अदालत ने आज  रॉयल डच शेल ग्रुप को CO2 उत्सर्जन में कटौती करने का आदेश दिया है। शेल को अब अपने, उपभोक्ताओं और आपूर्तिकर्ताओं समेत, कुल कार्बन उत्सर्जन में 2019 के स्तर के मुकाबले 2030 तक 45% तक कटौती करनी होगी।

Olympic

टोक्यो ओलंपिक में क्लाइमेट चेंज बनेगा खिलाड़ियों के लिए परेशानी का सबब

in Op-ed

ओलिंपिक खेलों की पहचान हैं वो पांच आपस में तरतीब से फंसे हुए रिंग्स। लेकिन इस साल जुलाई में टोक्यो में होने वाले ओलिंपिक खेलों में, वैज्ञानिकों की मानें तो, वो पांच रिंग्स या छल्ले, आग के छल्लों से कम नहीं होंगे। दरअसल दुनिया के कुछ चुनिन्दा एथलीटों द्वारा समर्थित एक नए अध्ययन में वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि जलवायु परिवर्तन से प्रेरित गर्मी और उमस के उच्च स्तर जुलाई में टोक्यो ओलंपिक में प्रतियोगियों के लिए एक महत्वपूर्ण खतरा पैदा कर सकते हैं।

Cyclone

जलवायु परिवर्तन से जुड़े हैं तूफ़ान यास, तौकते और अम्फान के तार

in Op-ed

भारत के नौ राज्यों में तूफ़ान तौकते के कहर का सामना करने के सिर्फ़ एक हफ्ते बाद, देश अब बंगाल की खाड़ी में अपने दूसरे चक्रवाती तूफान यास के लिए कमर कस रहा है। तौकते की यात्रा की तरह, उष्णकटिबंधीय तूफ़ान यास भी तेज़ी से तीव्र हो रहा है। तूफ़ान यास को वर्तमान में गंभीर चक्रवाती तूफान के रूप में देखा जा रहा है, जो पूर्व-मध्य और उससे सटी बंगाल की खाड़ी के पश्चिम-मध्य में मंथन कर रहा है, जिसकी निरंतर हवा की गति 100-115 किमी प्रति घंटे है, और 125 किमी प्रति घंटे की रफ्तार तक बढ़ जाती है।