क्या केजरीवाल सरकार कोरोना पर हुई फेल? दिल्ली कांग्रेस, AAP विधायक ने की राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग

Aap

नई दिल्लीः देश की राजधानी में बिगड़ते हालात पर दिल्ली कांग्रेस ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग करते हुए कहा कि सरकार कोविड-19 महामारी के दौरान अपने संवैधानिक कर्तव्यों का निर्वहन करने में पूरी तरह से विफल रही। दिल्ली कांग्रेस प्रमुख चौधरी अनिल कुमार ने राष्ट्रपति को लिखे पत्र में कहा कि पिछले कई दिनों से अस्पताल की व्यवस्था और ऑक्सीजन की उपलब्धता में कमी के कारण लोगों को मरने के लिए छोड़ दिया गया है।

इसी कड़ी में एक और नाम जुड़ गया है। सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी (आप) के विधायक शोएब इकबाल ने अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली अपनी ही सरकार को कोविड प्रबंधन में फेल बताया है। दिल्ली के मटिया महल से विधायक शोएब इकबाल ने शुक्रवार को कहा कि आज हमें विधायक होने पर शर्म आ रही है क्योंकि हम कुछ नहीं कर पा रहे हैं। उन्होंने कोरोना के कारण दिल्ली में पैदा हुए हालात के मद्देनजर हाईकोर्ट से अपील करते हुए दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगाने की अपील की है।

मटिया महल से विधायक की शिकायत है कि दिल्ली में मरीजों को न तो दवाई मिल रही है और न ही अस्पताल-ऑक्सीजन। लोगों की सुनवाई करने वाला कोई नही है। उन्होंने कहा कि मुझे दुख हो रहा है कि हम किसी की मदद नहीं कर पा रहे है। अब मैं यही चाहूंगा कि दिल्ली हाईकोर्ट तुरंत यहां राष्ट्रपति शासन लगाए, वरना सड़कों पर लाशें बिछ जाएंगी। शोएब इकबाल ने कहा कि हमें केंद्र से सहयोग नहीं मिल रहा है, अगर केंद्र के हाथ में सब कुछ आएगा तो काम हो पाएगा। उन्होंने कहा कि तीन महीने के लिए दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगना चाहिए।

आपको बता दें कि दिल्ली को कोरोना वायरस संक्रमण के 24,235 नए मामले सामने आने के साथ ही दिल्ली में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 11,22,286 तक पहुंच गई। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली में गुरुवार को कोविड-19 के 395 मरीजों की मौत हो गई। यह अब तक इस महामारी में मरने वालों की एक दिन की सर्वाधिक संख्या है। शहर में अब तक कुल 15,772 लोग इस महामारी के कारण जान गंवा चुके हैं। दिल्ली में लगातार आठवें दिन संक्रमण के कारण 300 से अधिक मरीजों की मौतें दर्ज की गईं। हालांकि, राजधानी में अब तक इस घातक वायरस से 10.08 लाख से अधिक मरीज ठीक हो चुके हैं, जबकि वर्तमान में 97,977 एक्टिव केस हैं।

Add comment


Security code
Refresh