PF धारकों को लगेगा झटका, घट सकती है ब्याज दर, आज होगा फैसला

EPFO

नई दिल्लीः कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) ने वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए भविष्य निधि जमा पर ब्याज दर की घोषणा करने की संभावना है। जानकारी के मुताबिक, ईपीएफओ जमा पर ब्याज दरों को 2020 के दौरान आर्थिक मंदी के कारण ब्याज दरों में कमी कर सकता है। मतलब ये कि पेट्रोल, डीजल, एलपीजी, सीएनजी, पीएनजी की बढ़ती कीमतों के बाद पीएफ की ब्याज दरों में कटौती आम आदमी के लिए एक ओर झटका साबित होगी।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक कोरोना काल में लोगों ने बड़ी संख्या में पीएफ निकासी की है, इस दौरान अंशदान में भी कमी आई है. जिसके चलते ईपीएफओ ब्याज दरों में कटौती का फैसला कर सकता है। नई दरों पर फैसला लेने के लिए आज ईपीएफओ सेंट्रल बोर्ड ऑफ ट्रस्टीज ;ब्ठज्द्ध की बैठक होगी। माना जा रहा है कि इस बैठक में ब्याज दरों में कटौती तय है।

समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार, ईपीएफओ के ट्रस्टी केई रघुनाथन ने पिछले महीने कहा था कि उन्हें केंद्रीय न्यासी बोर्ड की बैठक के लिए सूचना मिल गई है और जल्द ही एजेंडा पत्र भेजे जाने की संभावना है।

बोर्ड ने पहले कहा था कि वह अपने ग्राहकों के लिए 31 मार्च को समाप्त हुई किस्तों में 8.5 प्रतिशत ब्याज का भुगतान दो किस्तों में करेगा- एक ऋण निवेश से 8.15 प्रतिशत और दूसरा इक्विटी से 0.35 प्रतिशत होगा।

मार्च 2020 में, ईपीएफओ ने भविष्य निधि जमा पर ब्याज दर को 2019-20 के लिए सात साल के निचले स्तर पर 8.5 प्रतिशत कर दिया था। 2018-19 में ब्याज दर 8.65 प्रतिशत और 2017-18 के लिए 8.55 प्रतिशत थी। 2016-17 में ब्याज दर 8.65 प्रतिशत थी।

पिछले शनिवार को जारी आंकड़ों के अनुसार, 2019 में इसी महीने की तुलना में दिसंबर में ईपीएफओ नामांकन 24 प्रतिशत बढ़कर 12.54 लाख हो गए। श्रम मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि ईपीएफओ का अनंतिम सेलेरी डेटा एक सकारात्मक प्रवृत्ति को उजागर करता है। 
कोविड-19 महामारी के बावजूद, यह आंकड़ा दिखा कि म्च्थ्व् ने चालू वित्त वर्ष की पहली तीन तिमाहियों के दौरान (2020 में दिसंबर से दिसंबर) में लगभग 53.70 लाख ग्राहक जोड़े हैं।

नए नामांकन में वृद्धि का श्रेय हाल ही में ईपीएफओ द्वारा की गई हालिया ई-पहल और सरकार द्वारा शुरू की गई आत्मनिर्भर भारत रोजगार योजना, प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना और प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना जैसी योजनाओं को दिया गया।

(एजेंसी इनपुट्स के साथ)

Add comment


Security code
Refresh