आधिकारिक लॉन्च से पहले टेस्ला ने अपनी इलेक्ट्रिक कार की तस्वीरें साझा की

Tesla Motors

नई दिल्लीः एलोन मस्क के स्वामित्व वाली ईवी कंपनी टेस्ला ने भारतीय बाजारों में प्रवेश की घोषणा की और इस साल 8 जनवरी को अपनी कंपनी को पंजीकृत किया। तब से कार के शौकीन लोग, ईवी Aficionados और सामान्य कार को भारतीय सड़कों पर दिखने का इंतजार कर रहे हैं। भले ही कंपनी ने अपने एंट्री-लेवल मॉडल 3 का भारतीय सड़कों पर परीक्षण एक हफ्ते पहले शुरू किया था।

लेकिन अंत में, उम्मीदों पर विराम लगाया जा सकता है क्योंकि पहली बार टेस्ला मॉडल 3 यहां है। अपने चमकदार लाल रंग की बाॅडी के साथ दुनिया को दर्शाते हुए, टेस्ला मॉडल 3 को हाल ही में बैंगलोर, कर्नाटक से कार शौकीन को दिया गया था। कारों के बारे में फेसबुक पेज ‘ऑटोमोबिली अर्देंट’ पर कार की तस्वीरें साझा की गईं।

मॉडल-3 भारतीय उपमहाद्वीप में आधिकारिक तौर पर टेस्ला द्वारा लॉन्च की जाने वाली पहली कार होगी। टेस्ला द्वारा पेश की जाने वाली कार रेंज में यह बेस-वर्जन है। अमेरिकी बाजारों के मुताबिक, बेस वर्जन की कीमत 39,990 डॉलर है, जो भारतीय मुद्रा में करीब 30 लाख रुपये है। हालांकि, विदेशी निर्मित कारों पर लागू कस्टम ड्यूटी के कारण, यानी पूरी तरह से निर्मित इकाइयों (सीबीयू) के लिए 204ः, भारत में बेस मॉडल की कीमत लगभग 70 लाख रुपये होगी।

बैंगलोर में देखा गया लाल इलेक्ट्रिक बीस्ट एक दोहरी मोटर है। हालाँकि, कंपनी सिंगल मोटर वैरिएंट भी पेश करती है। मॉडल रियर-व्हील ड्राइव है और पूरी तरह चार्ज होने पर 423 किलोमीटर की दूरी तय कर सकता है। इलेक्ट्रिक से चलने के बावजूद पाॅवर में कोई समझौता नहीं है। बेस मॉडल 6 सेकेंड के अंदर शून्य से 100 तक जा सकता है। कंपनी मॉडल 3 का टॉप-एंड वैरिएंट भी पेश करती है जो 586 किलोमीटर की रेंज प्राप्त करता है और 3 सेकंड में शून्य से 100 तक जाता है।

भारतीय बाजारों में टेस्ला की आधिकारिक लॉन्चिंग अभी भी प्रतीक्षित है और इस साल के अंत तक होने की उम्मीद है। हालांकि, लाल टेस्ला मॉडल 3 भारत में पहला टेस्ला नहीं है। कुछ संग्राहक ऐसे हैं जिन्होंने टेस्ला के भारत आने के संकेत से पहले निजी तौर पर कार का आयात किया था। उदाहरण के लिए, मुकेश अंबानी और एस्सार समूह के प्रशांत रुइया के पास टेस्ला कार मौजूद है।

(एजेंसी इनपुट्स के साथ)

Add comment


Security code
Refresh