क्यों बैठती हैं माँ लक्ष्मी विष्णु जी चरणों के निकट?

अक्सर धार्मिक तस्वीरों में देखा जाता है कि माँ लक्ष्मी (Maa Lakshmi)  विष्णु जी (Vishnu ji) के चरणों के निकट बैठती हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि

Read More

गणेशजी की पूजा का महत्वपूर्ण केंद्र श्री मयूरेश्वर मंदिर

श्री मयूरेश्वर मंदिर (Shri Mayureshwar Temple) पुणे (Pune) से 80 किलोमीटर दूर स्थित है। यह मोरेगांव गणेशजी (Ganeshji) की पूजा का महत्वपूर्ण केंद्र है।

Read More

भूत ने यहां तुलसीदास को बताई थी बजरंगबली की पहचान!

काशी (Kashi) यानी वाराणसी (Varanasi) में हनुमान जी (Hanuman ji) का मंदिर आस्था और विश्वास का बहुत बड़ा धार्मिक स्थल माना गया है। संकटमोचन मंदिर (Sanka

Read More

महादेव के लिए माता लक्ष्मी ने यहां खोदा था कुंड, मां पार्वती हैं देवदार के वृक्ष के रूप में

उत्तराखंड (Uttarakhand) को महादेव शिव (Mahadev Shiv) की तपस्थली भी कहा जाता है। भगवान शिव (Lord Shiva) इसी धरा पर निवास करते हैं। इसी जगह पर भगवान शिव

Read More

काशी में भगवान गणेश के त्रिनेत्र स्वरूप की होती है पूजा, क्यों खास है ये मंदिर

हिन्दू धर्म में बुधवार के दिन पूरे विधि विधान के साथ भगवान गणेश (Lord Ganesha) की पूजा की जाती है। भगवान गणेश (Bhagwan Ganesh) भक्तों पर प्रसन्न होकर

Read More

एकादशी व्रत और उसका लाभ, कष्ट दूर करने के कुछ उपाय

एकादशी व्रत (Ekadashi Vrat) के पुण्य के समान और कोई पुण्य नहीं है। जो पुण्य सूर्यग्रहण में दान से होता है, उससे कई गुना अधिक पुण्य एकादशी (Ekadashi) क

Read More

भगवान श्रीकृष्ण की मृत्यु का राज जुड़ा है प्रभु श्री राम से

महर्षि वेद व्यास रचित महाभारत (Mahabharat) के मौसल पर्व में भगवान श्रीकृष्ण (Shri Krishna) की मृत्यु और उनकी द्वारका नगरी के समुद्र में समा जाने का वि

Read More

सूर्य पुत्र कर्ण ही बड़ा दानी क्यों?

एक बार श्री कृष्ण और अर्जुन (Arjun) कहीं जा रहे थे। रास्ते में अर्जुन ने श्री कृष्ण से पूछा- हे प्रभु! एक जिज्ञासा है मेरे मन में, अगर आज्ञा हो तो पूछ

Read More

जब महादेव ने शनिदेव को 19 वर्षों तक पीपल के पेड़ से उल्टे लटका दिया

शनि, ग्रह व देवता दोनों रूप में पूजे जाते हैं। शनिदेव (Shanidev) व्यक्ति को उसके अच्छे व बुरे कर्मो का फल प्रदान करते हैं। इसी कारण इन्हें कर्म दंडाधि

Read More