Unnamed 1

हाइड्रोजन ईंधन सेल आधारित वाहनों को बढ़ावा देने की मुहिम

नई दिल्ली: सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने दिनांक 23 सितंबर, 2020 को केंद्रीय मोटर वाहन अधिनियम 1989 में संशोधन करके हाइड्रोजन फ्यूल सेल्स द्वारा चलने वाले मोटर वाहनों के सुरक्षा मूल्यांकन के मानकों को अधिसूचित कर दिया है। स्वच्छ ऊर्जा चलित वाहनों की वृद्धि के लिए नियमों को वृहद किया गया है।

LJ

न्याय विभाग की पहली पुस्तिका का ई-संस्करण 'रीचिंग द अनरिच्‍ड - वॉइसेज ऑफ द बेनिफिसिएरीज' जारी

नई दिल्लीः केंद्रीय न्‍याय विभाग ने अपने टेली-लॉ कार्यक्रम की यात्रा को मनाने के लिए 'टेली-लॉ - रीचिंग द अनरिच्ड, वॉइसेज ऑफ द बेनिफिसिएरीज' शीर्षक के तहत अपनी पहली पुस्तिका जारी की है। यह लाभार्थियों की वास्तविक जीवन की कहानियों और टेली-लॉ कार्यक्रम के तहत उन्‍हें विवादों को सुलझाने के लिए दी गई कानूनी सहायता का एक मनोरम पठनीय संग्रह है। इस प्रकार के विवाद दैनिक जीवन को प्रभावित करते हैं। वर्तमान में इस कार्यक्रम के तहत 29 राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों के 260 जिलों (115 आकांक्षी जिलों सहित) और 29,860 सीएससी के जरिये भौगोलिक रूप से दुर्गम एवं दूरदराज के क्षेत्रों में 3 लाख से अधिक लाभार्थियों को कानूनी सलाह दी गई है।

Gangwar

श्रम कानून में बदलाव समय की जरूरत, ये 3 बिल श्रम कल्याण की दिशा में मील का पत्थर साबित होंगे: गंगवार

नई दिल्ली: श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष कुमार गंगवार ने लोकसभा में बहस के दौरान कहा कि श्रम कानून में बदलाव समय की जरूरत बन गया था और इससे जुड़े 3 विधेयक श्रम कल्याण की दिशा में मील का पत्थर साबित होंगे। गंगवार ने कहा कि देश में ऐतिहासिक श्रम सुधारों के लिए सदन में प्रस्तुत किए गए तीनों विधेयक देश के 50 करोड़ से अधिक संगठित और असंगठित कामगारों के लिए श्रम कल्याण सुधारों में महत्वपूर्ण परिवर्तन लाने वाले (गेम चेन्जर) साबित होंगे। इससे गिग और  प्लेटफॉर्म कामगारों के साथ-साथ स्व-नियोजन क्षेत्र के कामगारों की सामाजिक सुरक्षा के लिए द्वार भी खुलेंगे।

ISC

भारतीय विज्ञान कांग्रेस, राष्‍ट्रीय विज्ञान नीति के विकास में दे रही अमूल्य योगदान

नई दिल्लीः वार्षिक भारतीय विज्ञान कांग्रेस का आयोजन वर्ष 1914 से प्रत्‍येक वर्ष किया जाता है। इस वर्ष, 107वीं भारतीय विज्ञान कांग्रेस का आयोजन कृषि विज्ञान विश्‍वविद्यालय, जीकेवीके परिसर, बंगलौर, कर्नाटक में 3-7 जनवरी, 2020 के दौरान किया गया जिसकी केंद्रीय विषय वस्‍तु थी- विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी: ग्रामीण विकास। इस प्रक्रिया के जरिए, भारतीय विज्ञान कांग्रेस संस्‍था सामान्‍य रूप से विज्ञान के और विशेष रूप से राष्‍ट्रीय विज्ञान नीति के विकास में योगदान देती रही है। बाल विज्ञान कांग्रेस, महिला विज्ञान कांग्रेस, कृषक विनिर्दिष्‍ट विज्ञान कांग्रेस, विज्ञान प्रदर्शनी तथा विज्ञान संचारक बैठक का आयोजन भी उपर्युक्‍त अवधि के दौरान किया गया। सम्‍मेलन की कार्रवाई, पत्रिकाओं, रिपोर्टों और अन्‍य सामग्री का वितरण प्रतिभागियों के बीच विज्ञान को लोकप्रिय बनाने और भारत की जनता के बीच वैज्ञानिक प्रवृत्ति का सृजन करने के लिए किया गया।

Crop

केंद्र ने रबी फसलों के एमएसपी में की वृद्धि, किसान जहां चाहे बेच सकेंगे अपनी फसल

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्‍यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रीमंडलीय समिति (सीसीईए) ने रबी विपणन मौसम (आरएमएस) 2021-22 की सभी अधिदेशित रबी फसलों के न्‍यूनतम समर्थन मूल्‍यों (एमएसपी) में वृद्धि संबंधी प्रस्‍ताव को मंजूरी दे दी है। न्यूनतम समर्थन मूल्य में यह वृध्दि स्वामीनाथन आयोग की अनुशंसाओं के अनुरुप हैं। पोषण आवश्‍यकताओं और बदलती आहार शैली को देखते हुए और दलहनों और तिलहनों के उत्‍पादन में आत्‍मनिर्भरता प्राप्‍त करने के लिए सरकार ने इन फसलों के लिए तुलनात्‍मक रूप से उच्‍चतर एमएसपी निर्धारित की है।