Fit India Movement: भारत को स्वस्थ्य राष्ट्र बनाने की दिशा में किया जा रहा एक सार्थक प्रयास

Fit

नई दिल्ली: एक अनूठी पहल के तहत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 24 सितंबर 2020 को फिट इंडिया अभियान की पहली वर्षगांठ के उपलक्ष्य में देशव्यापी ऑनलाइन फिट इंडिया संवाद के दौरान फिटनेस के प्रति लोगों को जागरुक बनाने वालों और आम नागरिकों के साथ बातचीत करेंगे। इस ऑनलाइन संवाद में प्रतिभागियों को फिटनेस और अच्छे स्वास्थ्य के बारे में प्रधानमंत्री से मार्गदर्शन लेने के साथ ही अपनी फिटनेस यात्रा के अनुभवों और युक्तियों को साझा करते हुए देखा जाएगा। इस कार्यक्रम के प्रतिभागियों में फिटनेस को लेकर लोगों को प्रोत्साहित करने वाले विराट कोहली और मिलिंद सोमन से लेकर रुजुता दिवेकर जैसे लोग भी होंगे।

कोविड-19 के समय में, फिटनेस जीवन का एक और भी महत्वपूर्ण पहलू बन गया है। ऐसे में इस संवाद में पोषण, स्वास्थ्य और फिटनेस के विभिन्न पहलुओं पर सामयिक और सार्थक संवाद देखा जा सकेगा।

प्रधानमंत्री द्वारा जन आंदोलन के रूप में परिकल्पित, फिट इंडिया संवाद आम जन की भागीदारी के साथ भारत को एक स्वस्थ्य राष्ट्र बनाने की दिशा में किया जा रहा एक और प्रयास है।  जिस मूल सिद्धांत पर फिट इंडिया मूवमेंट की परिकल्पना की गई है, उसमें लोगों द्वारा मौज मस्ती के साथ आसान और बिना किसी खर्चे के फिट रहने की आदतों को अपनी दिनचर्या का हिस्सा बनाना शामिल है जिसे इस संवाद के जरिए और सशक्त बनाने का प्रयास किया जा रहा है।

फिट इंडिया अभियान शुरु किए जाने के बाद पिछले एक साल में इसके तत्वावधान में आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में देश भर से लोगों की उत्साहपूर्ण भागीदारी देखी गई है। “द फिट इंडिया फ्रीडम रन”, “प्लॉग रन”, “साइक्लोथॉन”, “फिट इंडिया वीक”, “फिट इंडिया स्कूल सर्टिफिकेट” और कई अन्य कार्यक्रमों में 3.5 करोड़ से अधिक लोगों की सामूहिक भागीदारी देखी गई जो इसे सही मायने में एक जन आंदोलन बनाता है।

फिट इंडिया संवाद, जिसमें देश भर से फिटनेस को लेकर उत्साही लोगों की भागीदारी देखी जाएगी इस सोच को और भी बल देता है कि इसे जन आंदोलन का रूप देने का पूरा श्रेय नागरिकों को जाता है।