अब पासपोर्ट आवेदन के समय DigiLocker का लिंक दे सकेंगे, ई-पासपोर्ट सुविधा जल्द

Passport

नई दिल्लीः अब पासपोर्ट (Passport) बनवाने के लिए आपको अपने मूल दस्तावेजों (Original Documents) को कैरी नहीं करना पड़ेगा। पासपोर्ट का आवेदन करने वाले, अब डिजीलॉकर ऐप (DigiLocker App) में अपलोड किए गए अपने विशिष्ट दस्तावेजों का लिंक दे सकेंगे। विदेश मंत्रालय (MEA) ने लोगों की सुविधा के लिए पासपोर्ट सर्विसेज को आसान बनाने के लिए यह स्कीम लॉन्च की है। केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरण ने शुक्रवार को इस नई सेवा की शुरुआत की, जिससे अब आप भारत के किसी कोने से पासपोर्ट के लिए अप्लाई कर सकेंगे। 

“विदेश मंत्रालय (MEA)  ने एक विज्ञप्ति में कहा, “इस नई योजना की शुरुआत के साथ, पासपोर्ट सेवाओं के लिए आवेदन करने वाले आवेदक DigiLocker पर अपलोड किए गए अपने दस्तावेजों के लिंक दे सकते हैं। यह नागरिकों को पेपरलेस मोड में डिजीलॉकर के माध्यम से पासपोर्ट सेवाओं के लिए आवश्यक विभिन्न दस्तावेजों को प्रस्तुत करने की अनुमति देता है। अब लोगों को पासपोर्ट आवेदन के समय अपने ओरिजनल डाक्यूमेंट्स कैरी करने की जरूरत नहीं है।’’

आवेदन द्वारा स्वीकार किए गए दस्तावेज कक्षा 10 प्रमाण पत्र या मार्कशीट, पैन कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और मतदाता पहचान पत्र हैं।

जल्द ही ई-पासपोर्ट
वर्चुअल जाने के अपने अगले कदम के बारे में बोलते हुए, मुरलीधरन ने बताया कि पासपोर्ट को DigiLocker ऐप में शामिल किया जा सकता है। पासपोर्ट खोने के मामले में, उपयोगकर्ता ई-पासपोर्ट डाउनलोड करने में सक्षम होंगे।

उन्होंने कहा, “हम दस्तावेजों के रूप में पासपोर्ट को डिजीलॉकर में शामिल करने के विचार पर काम कर रहे हैं।’’ उन्होंने आगे कहा, ‘‘मेरा मानना है कि इससे नागरिकों को जब भी जरूरत होगी पासपोर्ट प्राप्त करने में मदद मिलेगी।’’

मुरलीधरन ने  कहा, “पेपरलेस गवर्नेंस के उद्देश्य से, डिजिलॉकर डिजिटल तरीके से दस्तावेजों / प्रमाण पत्रों को जारी करने और सत्यापित करने के लिए एक मंच है, इस प्रकार ओरिजनल डाक्यूमेंट्स के उपयोग को समाप्त करता है। इसके अलावा, एक बार पासपोर्ट भी डिजिलॉकर पर अपलोड कर दिया जाता है, यह विवरण अधिकृत उपयोगकर्ताओं से आसानी से प्राप्त किया जा सकेगा, जो पासपोर्ट खोने पर विशेष रूप से उपयोगी होगा।

ऐसे बनाएं DigiLocker​ अकाउंट
सबसे पहले digitallocker.gov.in वेबसाइट पर जाएं। लेकिन, सबसे पहले यह सुनिश्चित कर लें कि आपका फोन नंबर आधार के साथ रजिस्टर्ड है या नहीं। अगर फोन रजिस्टर्ड नहीं होगा तो आप इसका इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे।
इसके बाद साइनअप पर क्लिक करें और अपना नाम, बर्थ डेट, रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर के साथ ईमेल आईडी, पासवर्ड डालें। पासवर्ड आपको खुद बनाना होगा।
इसके बाद 12 अंकों का आधार नंबर एंटर करें। जैसे ही आप आधार नंबर एंटर करेंगे आपको 2 विकल्प मिलेंगे। ओटीपी और फिंगरप्रिंट। आप इनमें से किसी का इस्तेमाल कर सकते हैं।
जैसे ही यह प्रक्रिया पूरी हो जाएगी, वैसे ही आपको यूजरनेम और पासवर्ड बनाने करने के लिए कहा जाएगा, जिसकी मदद से आप डिजिलॉकर को लॉग-इन कर सकेंगे। 

ऐसे अपलोड करें डॉक्यूमेंट
डिजिलॉकर को लॉग-इन करने के बाद आपके पर्सनल अकाउंट में दो सेक्शन दिखाई देंगे।
पहले सेक्शन में अलग-अलग एजेंसियों द्वारा जारी सर्टिफिकेट, उनके यूआरएल (लिंक), जारी करने की तिथि और शेयर करने का विकल्प मिलेगा।
वहीं, दूसरे सेक्शन में आपके द्वारा अपलोड किए गए सर्टिफिकेट, उनका संक्षिप्त विवरण और शेयर व ई-साइन का विकल्प होगा।
डॉक्यूमेंट अपलोड करने के लिए दिए गए विकल्पों में से उचित को विकल्प चुनें।
अगर आप सर्टिफिकेट अपलोड करना चाहते हैं तो माई सर्टिफिकेट पर क्लिक करें। इसके बाद अपलोड डॉक्युमेंट पर क्लिक कर अपने सर्टिफिकेट को चुनें।
इसके बाद मांगी गई जानकारियां भरें। ऐसे आप अपने सारे डक्यूमेंट डिजिटल लॉकर में अपलोड कर सकते हैं।

Add comment


Security code
Refresh