Cg5

मुख्यमंत्री से मिलकर गरीब परिवार के होनहार छात्र योगेश साहू के लिए आईआईटी की पढ़ाई की राह हुई आसान

रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की सहृदयता से गरीब परिवार के होनहार छात्र योगेश साहू के लिए आईआईटी बाम्बे में पढ़ाई करना अब संभव हो पाएगा। बलौदाबाजार जिले के भाटापारा निवासी छात्र योगेश साहू ने जेईई एडवांस की परीक्षा वर्ष 2021 में ऑल इंडिया रैंक (ओबीसी) 241 प्राप्त किया है। उनका दाखिला आईआईटी बाम्बे में हो रहा है। योगेश साहू के पिता श्री गयाराम साहू वाहन चालक हैं। उनकी मासिक आय लगभग 12 हजार रूपए है।

Cg4

वनराज मुर्गियां पालन में लागत कम और मुनाफा ज्यादा, समूह की महिलाओं को हुआ लाभ

रायपुर : गौठानों में किए जा रहे विभिन्न आजीविकामूलक कार्यों से आत्मनिर्भरता प्राप्त कर रही महिलाएं अपने परिवारांे का संबल बनने के साथ ही समाज के लिए भी एक आदर्श उदाहरण प्रस्तुत कर रही हैं। दुर्ग जिले के मतवारी गांव की महिलाओं ने वनराज प्रजाति की मुर्गियां का पालन शुरू किया। दो महिने के भीतर ही मुर्गियां तैयार हो गई और इन्हें विक्रय करने पर 63 हजार रूपए का लाभ इन महिलाआंे को हुआ है। ग्राम मतवारी के गौठान में जिला प्रशासन ने मुर्गी शेड का निर्माण कराया। पशुधन विकास विभाग की बैकयार्ड पोल्ट्री योजना के तहत मिली सहायता से पहली बार महिलाओं ने वनराज प्रजाति की मुर्गियां पाली। लाभ से उत्साहित महिलाएं पुनः चूजों को खरीदकर इनका पालन कर रही है।  

Cg3

छत्तीसगढ़ खादी तथा ग्रामोद्योग के नायब उत्पाद अब नई दिल्ली में प्रधानमंत्री आवास के पास सुलभ

रायपुर : छत्तीसगढ़ की नायाब कारीगरी को नई दिल्ली में प्रधानमंत्री आवास के पास विक्रय हेतु सुलभ कराया गया हे। दिल्ली स्थित संतुष्टि शॉपिंग कॉम्प्लेक्स शॉप नंबर 35 न्यू विलिंगडन कैम्प लोक कल्याण मार्ग एयरफोर्स स्टेशन में विक्रय केन्द्र ‘‘संगवारी छत्तीसगढ़’’ का आज शुभारंभ छत्तीसगढ़ खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष श्री राजेंद्र तिवारी के द्वारा किया गया। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में राज्य सभा सांसद फूलो देवी नेताम, छत्तीसगढ़ खादी ओर ग्रामोद्योग बोर्ड की प्रबंध संचालक श्रीमति रेखा शुक्ला ओर दिल्ली नगर निगम की पार्षद यासमिन किदवई भी उपस्थित थी। श्री तिवारी ने इस अवसर पर कहा कि,विक्रय केंद्र के खुल जाने से छत्तीसगढ़ खादी तथा ग्रामोद्योग के उत्पाद अब दिल्लीवासियों को  ओर  सहजता से सुलभ  होंगे।

Cg2

सब्जी की खेती से हो रही लाखों की कमाई

रायपुर : छत्तीसगढ़ शासन के उद्यानिकी विभाग के सहयोग एवं सलाह से किसान सब्जी की फसलों से अब अच्छी आमदनी प्राप्त कर रहे है। धान की खेती छोड़ सब्जी की खेती से कोरबा जिले के चौनपुर गांव के किसान भुनेश्वर सिंह ने दोगुना से ज्यादा लाभ कमाया है। खेती को लाभ का व्यवसाय बनाने और बारह महीने रोजगार के साधन के रूप में विकसित करने का यह सबसे अच्छा उदाहरण बन गया है। कोरबा जिले के करतला विकासखण्ड के चौनपुर गांव के किसान भुनेश्वर सिंह ने अब अपनी सब्जी की खेती का रकबा दो एकड़ से बढ़ाकर 10 एकड़ कर लिया है और पिछले आठ-नौ महीने में ही उन्होंने पांच लाख रूपए से अधिक कमा लिये हैं। खुद भुनेश्वर बताते हैं कि अभी भी खेत में सब्जी लगी है और रबी का मौसम खत्म होते तक चार से पांच लाख रूपए की और आय होने की संभावना है। आमदनी बढ़ने से भुनेश्वर सिंह और उनके परिवार का जीवन स्तर भी सुधर गया है।

Cg1

मनरेगा के कुंए से निकली समृद्धि की जलधारा

कोरबा : महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना से कोरबा जिले के किसान मंगल सिंह कंवर को समृद्धि की नई राह मिल गई है। मनरेगा के तहत मंगल सिंह की घर-बाड़ी में नया कुंआ खुदाया गया है और इस कुंए से ही मंगल सिंह ने घर बाड़ी में सब्जी उगाकर 50 हजार रूपए की अतिरिक्त आमदनी कर ली है। स्वयं मंगल सिंह बताते हैं कि कटघोरा विकासखण्ड की ग्राम पंचायत सलोरा के सिरबिदा गांव में वे पहले मनरेगा मजदूर के रूप में रोजी-मजदूरी करते थे। भूमि समतलीकरण, तालाब गहरीकरण जैसे कई कामों में उन्होंने बरसों मजदूरी की है। अकुशल श्रमिक के रूप में उन्हें मनरेगा की निर्धारित मजदूरी भी मिलती थी। परंतु यह राशि घर परिवार के भरण-पोषण के लिए पूरी नहीं पड़ती थी।