Vikas1

विकास दुबे केसः अवैध असलहों की सप्लाई बिहार से, पूछताछ में हुआ खुलासा

लखनऊः कानपुर के बीकरू गांव में रात 2 जुलाई को विकास दुबे और उसके साथियों द्वारा 8 पुलिसवालों की निर्ममता से हत्या कर दी गई। सवाल ये है कि आखिर उसके पास इतने हथियार आए कहां से कि उसने पूरी पुलिस फोर्स के ही छक्के छुड़ा दिए। पुलिस द्वारा बरामद हथियारों में कुछ हथियार लाइसेंसी थे और कुछ अवैध पाये गये हैं। इन्हीं हथियारों के बल पर उन्होंने 8 पुलिसवालों को बेरहमी से मार डाला।

Pull2

‘‘कच्चा पुल, कच्ची सरकार, ये है बिहार’’, ट्वीट की आई बाढ़

पटनाः गंडक नदी पर सतरघाट पुल का भाग कल भारी बारिश के कारण नदी में जल प्रवाह बढ़ने के बाद ढह गया। इस पुल को बनाने में लगभग 8 साल का समय लगा और जिसकी लागत करीब 263.48 करोड़ रही। इससे बिहार की जनता क्षुब्ध है और बिहार सरकार को कोस रही है। ट्वीटर पर तो मानो ट्वीट की बाढ़ ही आ गई है।

राजद के नेता तेजस्वी यादव ने व्यंग्य करते हुए ट्वीट किया, ‘‘263 करोड़ रूपये से 8 साल में बना, लेकिन मात्र 29 दिन में ढ़ह गया पुल। संगठित भ्रष्टाचार के भीष्म पितामह नीतीश जी इस पर एक शब्द भी नहीं बोलेंगे और ना ही साइकिल से रेंज रोवर की सवारी कराने वाले भ्रष्टाचारी सहपाठी पथ निर्माण मंत्री को बर्खास्त करेंगे। बिहार में चारों तरफ लूट ही लूट मची है।’’

Pull1

8 साल की मेहनत, 263 करोड़ की लागत पर किसने फेरा पानी

पटनाः गोपालगंज और चंपारण जिले की सीमा पर बना सतरघाट का पुल जिसका उद्घाटन 16 जून 2020 को बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बड़े ही तामझाम के साथ किया था और इस पुल के बड़े-बड़े फायदे गिनाये गये थे, पर ये नहीं बताया गया था कि इस पुल की मियाद सिर्फ एक महीने ही है। और अंत में ये पुल भी बाढ़ की भेंट चढ़ गया। आखिर कौन है इसका जिम्मेदार?

Bazaa1r

Lockdown के कारण बाजार में उमड़ी भीड़, सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों की उड़ी धज्जियां

पटनाः राज्य में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में संक्रमण के प्रसार पर अंकुश लगाने के लिए प्रदेश सरकार ने पंद्रह दिनों के लॉकडाउन की घोषणा कर दी गई है, जो 16 से 31 जुलाई तक प्रभावी रहेगा। 15 दिन के लाॅकडाउन के कारण लोग बैंक, एटीएम और दुकानों का रुख करते दिखे। लोग अपनी रोजमर्रा की जरूरत की चीजों की खरीददारी के लिए बाजारों में उमड़ पड़े। 

हालांकि, सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन में स्पष्ट किया जा चुका है कि जरूरत के सामान की दुकानें खुली रहेंगी, फिर भी लॉकडाउन के दौरान घरों में किसी तरह की दिक्कत न हो, इसको लेकर लोगों ने बाजार का रुख किया।

Govhousepatna

बिहार का गर्वनर हाउस भी कोरोना की चपेट में, 20 स्टॉफ पॉजिटिव

पटनाः बिहार में कोरोना संक्रमण के मामले आए दिन बढ़ते ही जा रहे हैं। मुख्यमंत्री आवास के साथ कई सरकारी दफ्तरों में भी कोरोना के मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही आज बिहार के राज्यपाल के घर पर लगभग 20 स्टाफ सदस्यों को टेस्ट के बाद कोरोना पाॅजिटिव पाया गया है।

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, राजधानी पटना स्थित गर्वनर हाउस में एक साथ 20 स्टॉफ कोरोना पॉजिटिव मिले पाये गये हैं। इससे पहले बिहार भाजपा के अध्यक्ष संजय जायसवाल भी कोरोना पॉजिटिव पाये गये थे।