Doctor

बिहार के डाॅक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों को मिलेगी होटल में आइसोलेशन की सुविधा

पटनाः बिहार में कोरोना संक्रमण से हालात दिन-ब-दिन बिगड़ते ही जा रहे हैं। राज्य के सरकारी और प्राईवेट अस्पतालों के हालात बहुत ही खराब हैं। आए दिन कोई न कोई खबर बिहार के अस्पतालों की खस्ता हालत को बयान करती ही रहती है। इसी बीच बिहार स्वास्थ्य विभाग ने सभी मुख्य चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिया है कि अगर डाॅक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों को होम आइसोलेशन के लिए उचित सुविधाएं नहीं मिलती हैं, तो उनके लिए होटलों में पेड सुविधा उपलब्ध करवाई जाए।

Bihar

‘हां मैं नीतीश कुमार हूं’: बिहार विधानसभा चुनाव में जेडीयू का नारा

पटनाः बिहार में मानसून के आगमन से जहां मौसमी पारा घटा है, वहीं राजनीतिक दलों के बीच पोस्टर वार से माहौल गरमाता नज़र आ रहा है। प्रदेश में जदयू समर्थकों और राजद के बीच पोस्टर वार जारी है। पोस्टरों की लड़ाई में वार पलटवार भी चल रहा है।

इस बीच हाल ही में जेडीयू का एक पोस्टर जारी हुआ है, जिसमें नारा दिया गया है ‘हां मैं नीतीश कुमार हूं’। बिहार में कोरोना संक्रमण के बीच विधानसभा चुनाव को लेकर सभी प्रमुख पार्टियों ने चुनाव प्रचार करना शुरू कर दिया है।

Bihar

बिहार में अस्पतालों की हालत बदतर, ऑक्सीजन न मिलने की वजह से मरीज ने दम तोड़ा

पटनाः बिहार के कटिहार में सदर अस्पताल में ऑक्सीजन नहीं मिलने से एक मरीज की तड़प-तड़प कर मौत हो गई। मरीज को उसके परिजन पेट दर्द और खांसी की शिकायत के बाद अस्पताल लाए थे। लेकिन कई घंटे बीत जाने के बावजूद डॉक्टर ने इलाज नहीं किया और मरीज ने दम तोड़ दिया। बिहार में अस्पतालों में व्यवस्था पहले से ही खराब थी, लेकिन कोरोना के दौर में ये व्यवस्था और भी बदतर हो गई है।

Train

जनशताब्दी व कार में टक्कर, हादसे में 4 लोगों की मौत, कई गंभीर रूप से घायल

पटनाः बिहार में शनिवार की सुबह एक बड़ा ट्रेन हादसा हुआ। पटना-रांची जनशताब्दी स्पेशल ट्रेन और अवैध रूप से क्रासिंग पार कर रही कार के बीच टक्कर में चार लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई। मृतकों में तीन की पहचान हो गई है। गंभीर रूप से घायलों को इलाज के लिए पटना मेडिकल कॉलेज भेजा गया है। मामले की जांच-पड़ताल की जा रही है।

Cart

महिला की हत्या, पोस्टमार्टम के बाद, शव ठेले पर ले जाने को मजबूर

पटनाः बिहार के नालंदा जिले में एक दिल दहलाने वाली घटना हुई। दरअसल हुआ यूं कि एम्बुलेंस कर्मियों की हड़ताल की वजह से महिला के शव को उसके परिजनों को ठेले पर ले जाने के लिए मजबूर होना पड़ा। वैसे आपको बता दें कि बिहार में इस तरह की घटनाएं आम हैं। अभी कुछ ही दिन पहले इस्लामपुर जिले में एक गर्भवती महिला को खाट पर उठाकर उसके घरवाले उसको अस्पताल ले गये।