बिहार में उगाई जा रही सबसे महंगी सब्जी, कीमत जानकर आप रह जायेंगे हैरान!

Capture

पटनाः सब्जियां तो आपने बहुत खाई होंगी, लेकिन क्या आपने कभी 1 लाख रुपये प्रति किलो की सब्जी खाई है? और खास बात ये भी है कि दुनिया की इस सबसे महंगी सब्जी की खेती अब देश में भी हो रही है। नवभारत टाइम्स के मुताबिक, बिहार के औरंगाबाद जिले में एक किसान ने आधुनिक तरीके से खेती करते हुए इस महंगी सब्जी को अपने खेत में इसे उगाया है। आखिर ये सब्जी कौन सी है और इसकी क्या खूबी है, जिसकी वजह से ये इतनी महंगी बिक रही है। दुनिया की सबसे महंगी सब्जी, नाम है हॉप शूट (Hop Shoot)। आइये जानते है क्या है सब्जी में खास और क्यों है ये इतनी महंगी?

Tw

होप शूट्स, बिहार में एक किसान द्वारा उगाई गई एक सब्जी ने उस समय तूफान ला दिया, जब एक आईएएस अधिकारी ने दो तस्वीरों के एक कोलाज को ट्वीट कर लिखा, ‘‘इस सब्जी के एक किलोग्राम की कीमत लगभग 1 लाख है! दुनिया की सबसे महंगी सब्जी, ‘होप-शूट’ की खेती अमरेश सिंह द्वारा की जा रही है, जो भारत के पहले किसान हैं। भारतीय किसानों के लिए ये सब्जी एक गेम चेंजर हो सकता है।’’ इसके बाद ‘हॉप शूट’ ने सोशल मीडिया पर कई लोगों के साथ हरी सब्जी के बारे में ट्वीट करना शुरू कर दिया।

क्या खासियत है इस सब्जी की
दुनिया की सबसे महंगी इस सब्जी की एक किलो की अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत लगभग 1 लाख रुपये है। हॉप शूट्स सेहत के लिए काफी लाभदायक होती है। कई गंभीर बीमारियों के इलाज में इसका इस्तेमाल किया जाता है, जिसकी वजह से इसकी कीमत इतनी अधिक है। जानकारी के मुताबिक, जर्मनी में इस सब्जी की खेती की शुरुआत हुई थी। फिर धीरे-धीरे दूसरे देशों में भी इसे उगाया जाने लगा, अब बिहार के औरंगाबाद में एक किसान ने इस सब्जी की खेती शुरू की है।

औरंगाबाद के एक गांव में रहने वाले किसान अमरेश कुमार सिंह ने ये तकनीकी खेती कर एक साहसिक कदम उठाया। नवीनगर प्रखंड के करमड़ी गांव में वह करीब पांच कट्ठे में हॉप शूट्स की खेती कर रहे हैं। अमरेश ने बताया कि वह हिमाचल प्रदेश से इसके पौधे लाए थे। करीब 4 महीने पहले ये सब्जी उन्होंने अपने खेत में लगाई थी। अब जैसे-जैसे ये पौधा बड़ा हो रहा है, वैसे-वैसे उनकी उम्मीदें भी बढ़ रही हैं। 

अमरेश ने बताया कि उनकी तबीयत खराब होने की वजह से उनको इलाज के लिए दिल्ली जाना पड़ा। इस बीच उनके पार्टनरों ने हॉप शूट्स की खेती पर ध्यान नहीं दिया, जिसकी वजह से इसको कुछ नुकसान पहुंचा। बातचीत में अमरेश ने ये भी कहा कि उनका हौसला बुलंद है और एक बार फिर हॉप शूट्स की खेती करेंगे। जानकारी के मुताबिक, ये सब्जी बाजार में उपलब्ध नहीं होती है। इसका इस्तेमाल एंटीबॉयोटिक दवाओं को बनाने में होता है।

जानकारी के मुताबिक, हॉप-शूट एंटीबॉडी बनाने में मददगार होती हैं जो टीबी जैसी बीमारियों से लड़ने में मदद करता है। कैंसर की दवाओं को भी बनाने में इसका इस्तेमाल होता है। इसके फूलों का इस्तेमाल बियर बनाने में भी किया जाता है। इसके फूलों को हॉप कोन्स कहते हैं। बाकी टहनियों का उपयोग खाने में किया जाता है। इससे आचार भी बनता है, जो काफी महंगा बिकता है। हॉप शूट्स का सबसे बड़ा खरीदार अमेरिका है।

आपको बता दें कि यूरोपीय देशों में इसकी खेती काफी मात्रा में की जाती है। ब्रिटेन और जर्मनी में लोग इसे काफी पसंद करते हैं। वसंत ऋतु का मौसम हॉप शूट् की खेती के लिए काफी मुफीद माना जाता है। भारत सरकार इन दिनों इस सब्जी की खेती पर वैज्ञानिक रिसर्च करा रही है। वाराणसी स्थित सब्जी अनुसंधान संस्थान में इसकी खेती पर काफी काम चल रहा है। अमरेश ने इसकी खेती के लिए अनुरोध किया था जिसे मान लिया गया। अगर उनकी कोशिश सफल रहती है तो देश में बाकी किसान भी इसकी खेती के लिए प्रोत्साहित होंगे और उनकी आय भी बढ़ेगी। 

Comments   

0 #1 satish chaudhery 2021-04-03 20:15
सब्जी किस महीने में उगाई जाती है और इसके तैयार होने में कितना समय लगता है और इस बीच में किसका किस तरह और कैसे ध्यान रखा जाता है मसलन खाद पानी का इसके बीज का पेड़ कहां से प्राप्त होते हैं
Quote

Add comment


Security code
Refresh