सुशांत की हत्या हुई है, बाॅलीवुड और महाराष्ट्र सरकार के कई लोग शामिलः महेश्वर हजारी

Hazari

पटनाः जैसे-जैसे समय बीतता जा रहा है, सुशांत सिंह राजपूत का केस में नित नए खुलासे हो रहे हैं। बाॅलीवुड की हस्तियों से लेकर बड़े-बड़े राजनेताओं के बयान इस केस पर आ रहे हैं। खासकर बिहार की जनता जर्नादन सुशांत की इस तरह मौत से क्षुब्ध है। बिहार के नेताओं के भी बयान आते ही रहते हैं। हाल ही में लाटसाब के संवाददाता ने बिहार मंत्री, प्लानिंग एंड डेवलपमेंट महेश्वर हजारी से बात की। प्रस्तुत हैं बातचीत के मुख्य अंशः-

Audio Link of conversation:

लाटसाब के संवाददाता ने महेश्वर हजारी से पूछा कि आप सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड के पीछे की वजह क्या मानते हैं?

महेश्वर हजारी ने कहा, ‘‘सुशांत की मैनेजर दिशा की हत्या की जानकारी इसको थी कि किसने हत्या की। इसलिए सुशांत की जान पर खतरा बना। दिशा को मारने वालों को संदेह था कि अगर ये जिंदा रहेगा तो हम फंस जाएंगे। ये जांच का विषय है और जांच तो चल ही रही है, पता तो चलेगा ही।’’ 

संवादाता ने उनसे पूछा कि आपने पीछे आरोप लगाया था कि रिया को सुपारी किलर के तौर पर इस्तेमाल किया गया है?

उन्होंने बताया, ‘‘जैसे फिल्मों में रोल करती है, उसी तरह से वो आई और उसने विष कन्या का रूप अदा किया। पहले प्यार के जाल में फंसाया, उसके बाद उसको डसने का काम किया और उसका भाई और उसका परिवार इसमें शामिल है।

संवादाता ने आगे पूछा कि आपको क्या लगता है कि सुपारी किसने दी होगी?

महेश्वर हजारी ने कहा, ‘‘इसमें कुछ बाॅलीवुड के लोग हैं और कुछ राजनीतिक लोग शामिल हैं। सब मिले हुए हैं, जो भी प्रतिभावान व्यक्ति वहां जाता है, उसे रास्ते से हटा दिया जाता है। 
संवादाता ने आगे पूछा कि वो कौन लोग हो सकते हैं?

उन्होंने बताया, ‘‘ये जांच का विषय है, हम लोग नाम कैसे बता सकते हैं। पुलिस जांच कर रही है, उसके बाद ही नाम सामने आएगा।

संवादाता ने पूछा कि बिहार पुलिस वहां इस केस पर काम कर रही है, आपको रिपोर्ट तो आई ही होगी?

महेश्वर हजारी ने कहा, ‘‘पुलिस इस पर काम कर रही है। आप लोगों की वजह से ही सच्चाई सामने आएगी ये हम लोगों को पूरी उम्मीद है। आप लोग प्रजातंत्र के चैथे स्तंभ है, उसके कारण जरूर न्याय मिलेगा।

संवादाता ने पूछा कि महाराष्ट्र सरकार इस जांच से क्यों बच रही है?

उन्होंने कहा, ‘‘महाराष्ट्र सरकार के भी कुछ लोग और उनके बच्चे इसमें शामिल हैं। वहां बहुत कुछ होता है।

संवादाता ने पूछा कि महाराष्ट्र पुलिस बिहार पुलिस की मदद कर रही है या नहीं?

महेश्वर हजारी ने कहा, ‘‘एकदम मदद नहीं कर रही है। अभी तक न तो पोस्टमार्टम रिपोर्ट दिया गया है और रिया जो सामान उठाकर ले गई है, वो सब भी नहीं दिया। सारा डाटा भी डिलीट कर दिया गया है। बिहार सरकार इस केस में लगी हुई है और आईपीएस विनय तिवारी को जांच के लिए मुम्बई भेजा गया है।