SC ने दिया बाबा वैद्यनाथ धाम खोलने का आदेश, BJP MP ने बताया झारखंड सरकार के मुंह पर तमाचा

Baidyanathdham

पटनाः लाॅकडाउन की वजह से बंद बाबा वैद्यनाथ धाम और बासुकिनाथ मंदिर को सुप्रीम कोर्ट ने सावन के आखिरी सोमवार से पहले खोलने की मंजूरी दे दी है। उच्चतम न्यायालय ने यह भी कहा है कि सभी नियमों का पालन किया जाए तथा श्रद्धालुओं की सीमित संख्या हो, इसी शर्त पर मंदिर खोलने की इजाजत दी जा रही है। 

आपको बता दें कि लाॅकडाउन 1.0 के समय से ही मंदिर के द्वार सभी के लिए बंद कर दिए गए थे। इस संबंध में भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की गई थी, जिसका फैसला अब आया है।

सुप्रीम कोर्ट ने उसी याचिका पर सुनवाई करते हुए, यह फैसला सुनाया है। हालांकि, उच्चतम न्यायालय का फैसला आते ही उस पर राजनीति भी शुरू हो गई है। निशिकांत दुबे ने उच्चतम न्यायालय के इस फैसले को झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार के मुंह पर तमाचा बताया है और कहा ‘‘यह उसको इस्तीफा की ओर ले जाता है।’’

भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने ट्वीट कर कहा, ‘‘आज मेरे याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने देवघर व बासुकिनाथ मंदिर के साथ-साथ पूरे देशभर के मंदिरों को खोलने व पूजा की इजाजत दी। माननीय उच्चतम न्यायालय का आभार। झारखंड सरकार के मुँह में यह तमाचा उसके इस्तीफा की ओर ले जाता है, माननीय प्रधानमंत्री @narendramodi जी के रहते सब ठीक होगा।’’

NDtw

उधर, बिहार में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच राज्य सरकार ने टेस्टिंग की संख्या में बढ़ोत्तरी की है। ज्ञात हो कि अब राज्य में हर रोज 20 हजार से ज्यादा सैंपल की जाच की जा रही है। इसके अलावा सरकार कोरोना मरीजों के लिए बेड का इंतजाम करने में भी जुटी हुई है। इसके तहत नीजि अस्पतालों में भी आइसोलेशन वार्ड बनाए जा रहे हैं। साथ ही पटना जिले में 10 कोविड केयर सेंटर भी स्थापित किए गए हैं। इन कोविड सेंटर्स में 1300 से ज्यादा बेड तैयार किए गए हैं।