तेजस्वी यादव की माफी पर बिहार में राजनीतिक हलचल शुरू

Tejasvi

पटनाः विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव का एक बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने लालू-राबड़ी राज के 15 साल के लिए माफी मांगी है, जिसे राज्य में होने वाले विधानसभा चुनावों से जोड़कर देखा जा रहा है। उनके इस ताजा बयान से बिहार की राजनीति में हलचल मच गई है। सबके मन में एक ही विचार आ रहा है कि आखिर क्या वजह है जो, तेजस्वी यादव राबड़ी और लालू यादव की सरकार को गलत ठहरा रहे है।

कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा, ‘‘ठीक है 15 साल हम लोग सत्ता में रहे, पर हम सरकार में नहीं थे, हम छोटे थे। फिर भी हमारी सरकार रही। इससे कोई इनकार नहीं कर सकता कि लालू प्रसाद यादव के राज में सामाजिक न्याय नहीं हुआ। 15 साल में हमसे कोई भूल हुई हो, तो हम उसके लिए माफी मांग रहे हैं।’’

छवि सुधारने की कोशिश
बिहार में इस समय तीन मुख्य राजनीतिक पार्टियां हैं, जेडीयू, बीजेपी और आरजेडी। राज्य में जेडीयू और बीजेपी का गठबंधन है। चुनाव में दोनों पार्टियों का एक ही मुद्दा रहता है कि लालू-राबड़ी जब सत्ता में थे, तब बिहार में गुंडाराज था और बिहार में उनके 15 साल के कार्यकाल में कोई विकास नहीं हुआ। अब बिहार में चुनाव सर पर हैं। ऐसे समय में आरजेडी के नेता तेजस्वी यादव ने फैसला किया है कि अपने विरोधी दलों को फिर से ये मुद्दा भुनाने नहीं देंगे। इसी के चलते उन्होंने सार्वजनिक मंच पर बिहार की जनता से माफी मांगकर अपनी पार्टी की छवि सुधारने की एक छोटी सी कोशिश की है।

तेजस्वी का नया पासा 
इससे पहले, तेजस्वी यादव ने अपने बड़े भाई तेजप्रताप यादव के ससुर चंद्रिका राय की बेटी ऐश्वर्या राय और तेजप्रताप यादव की तलाक की खबरों के बीच तेजस्वी यादव ने एक नया पासा फैंका है। तेजस्वी ने गुरुवार को चंद्रिका राय के बड़े भाई विधान चंद्र राय की बेटी करिश्मा राय को राजद की सदस्यता दी है। करिश्मा पेशे से डॉक्टर हैं और ऐश्वर्या की चचेरी बहन हैं।

Also read: कानपुर एनकाउंटर में मारे गये पुलिसवालों को 1 करोड़ का मुआवजाः योगी आदित्यनाथ

Also read: पीएम मोदी ने 11,000 फीट की ऊंचाई पर बढ़ाया सैनिकों का हौसला

Also read: टिकटोक स्टार संध्या चौहान ने की आत्महत्या, डिप्रेशन का थी शिकार

Add comment


Security code
Refresh