Uttrakhand: प्रदेश में दलित सीएम के लिए गंगा से प्रार्थना करेंः हरीश रावत

HarishRawat

देहरादूनः उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और एआईसीसी के पंजाब प्रभारी महासचिव हरीश रावत ने सोमवार को कहा कि वह गंगा से प्रार्थना करते हैं कि वह उत्तराखंड में एक दलित मुख्यमंत्री को देखने का मौका दें। ये बयान पंजाब में दलित (चरणजीत सिंह चन्नी) को शीर्ष स्थान पर काबिज होने के बाद आया।

उत्तराखंड कांग्रेस परिवर्तन यात्रा के दौरान हरिद्वार के लक्सर इलाके में एक जनसभा को संबोधित करते हुए रावत ने चन्नी का नाम लिए बिना कहा कि जब एक संवाददाता सम्मेलन में चन्नी ने अपनी पारिवारिक पृष्ठभूमि के बारे में बात की तो हर कोई रो रहा था।

ठाकुर समुदाय के रावत और उत्तराखंड में सीएम पद की दौड़ में सबसे आगे रहे रावत ने कहा कि कांग्रेस नेताओं सोनिया गांधी, राहुल गांधी और पंजाब विधायक दल ने सर्वसम्मति से एक गरीब परिवार के एक व्यक्ति को मुख्यमंत्री के रूप में चुना।

उन्होंने कहा, “मैं भगवान और गंगा से प्रार्थना करता हूं कि मुझे जीवन में एक ऐसा पल मिले जब मैं उत्तराखंड में एक दलित, गरीब और कारीगर के बेटे को मुख्यमंत्री के रूप में देखूं। हम इसके लिए काम करेंगे। उन्होंने कहा कि यह महत्वपूर्ण नहीं है कि कितने दलित समुदाय कांग्रेस के साथ थे, बल्कि केंद्र और राज्यों में सत्ता हासिल करने में उन्होंने कितने वर्षों तक कांग्रेस का साथ दिया। रावत ने कहा, ‘‘अगर हमें मौका मिला तो हम (प्रतिदान) चुकाएंगे।’’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस दलितों की उम्मीदों को पूरा करेगी।

(एजेंसी इनपुट के साथ)