ईस्ट सियांग में हल्दी खेती करने वाले किसानों को मिलेगी पूरी कीमत, कोलकाता की कंपनी ने किया करार

Jj

जोनाईः अरुणांचल प्रदेश के ईस्ट सियांग जिला के अधीन पासीघाट मे जिला उपायुक्त के सभागार में गुरुवार, 22 अक्टूबर को हल्दी की खेती करने वाले किसानों की हितों की रक्षा के लिये हल्दी की खेती करने वाले किसानों और पश्चिम बंगाल की फार्म नेटिव ईंड़िया प्राईवेट लिमिटेड़ के बीच फार्म टू फैक्टरी नामक एक करार पर हस्ताक्षर किया गया। जिसके अनुसार ईस्ट सियांग जिला के हल्दी की खेती करने वाले किसानों की फसलो की बुआई से लेकर कटाई तक देखभाल की जिम्मेदारी उक्त कंपनी करेगी। साथ ही प्राकृतिक आपदा के दौरान हल्दी की पैदावार की नुकसान की भरपाई के लिये भी पुरी मदद दी जायेगी। वहीं इस अनुबंध पर जिला उपायुक्त डॉ. किन्नी सिंह के नेतृत्व में जिला के 7 प्रगतिशील किसानों ने हस्ताक्षर किये।

हल्दी की खेती करने वाले किसानों ने भी इस अनुबंध पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि इससे हमें हल्दी की उचित कीमत मिलेगी और हमारे खेत भी सुरक्षित रहेंगे। वहीं जिला के हल्दी किसानों ने जिला उपायुक्त डॉ. किन्नी सिंह की सराहना करते हुए कहा कि श्रीमति सिंह यहां के किसानो को अपनी मेहनत की पूरी कीमत दिलाने के लिये इस तरह का कार्य करती आई हैं। बता दें कि ईस्ट सियांग से देश के विभिन्न भागों में जाने वाली हल्दी अपनी गुणवत्ता के लिए जानी जाती है।

फार्म नेटिव ईंड़िया प्राईवेट लिमिटेड़ के निदेशक सौरभ अग्रवाल ने कहा कि ईस्ट सियांग जिला के हल्दी की खेती करने वाले किसानों की आर्थिक स्थिति मजबूत करने तथा हल्दी के उत्पाद को बढावा देने के लिये यह करार किया गया हैं। साथ ही उन्होने कहा कि ईस्ट सियांग जिला में उत्पादित होने वाले हल्दी को यहीं पर पाउडर बनाकर पूरे देश में बेचा जायेगा और जल्द ही विदेशों में भी भेजने की तैयारी की जायेगी। साथ ही उन्होने कहा कि ईस्ट सियांग जिला के भीतर ही फूड़ प्रोसेसिंग फैक्टरी बनाने पर भी जोर दिया जायेगा, जिससे स्थानीय युवाओं को रोजगार के अवसर प्राप्त होगा।

Add comment


Security code
Refresh