जोनाई में 8 दिनों बाद बिजली आपूर्ति बहाल, इलाके में फिर से लौटी रौनक

Jj

जोनाईः असम के धेमाजी जिले के जोनाई महकमे में कोरोना वायरस की मार, बाढ़  व भू-कटाव से त्रस्त होने के साथ प्रचंड़ गर्मी के दौरान विद्युत विभाग की लापरवाही से स्थानीय लोग पिछले 8 दिनों से बिना बिजली के रहने पर मजबूर थे। laatsaab.com वेब पोर्टल पर खबर आने के बाद से बिजली विभाग ने इसे सज्ञान में लेते हुए इस पर तेजी से कार्रवाई करते हुए बिजली की आपूर्ति को फिर से जोनाई महकमे में बहाल किया।

गत 13 सितंबर से 20 सितंबर तक विद्युत विभाग के लापरवाही से विद्युत की आपुर्ती ठप्प होने से महकमा में जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया था। मालूम हो कि पिछले 13 सितंबर को सिलापथार शहर के समीप स्थित सिलासुती अंचल में तैतिस केवी विद्युत परिवाही 25 खंभे तार सहित पानी में गिरने से  बिजली आपूर्ती पूरी तरह से बंद हो गई थी। लेकिन महकमे में आज से विद्युत विभाग के कर्मचारियों की कड़ी मेहनत के बाद बिजली आपूर्ती व्यवस्था दोबारा से शुरू हो सकी।

Also read: आजमगढ़ में 4 सीटर एयरक्राफ्ट क्रैश, प्रशिक्षु पायलट की मौत

पिछले 8 दिनों से लागातार बिजली आपुर्ती व्यवस्था बाधित होने से विद्यार्थियों को आनलाइन क्लास के दौरान काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था।  खासकर व्यवसायियों, साइबर कैफे, इंटरनेट दुकानों, मोबाइल व मनोरंजन आदि सेवा बुरी तरह से प्रभावित थी। इतना ही नहीं बैटरी इ-रिक्शा चालक विद्युत नहीं रहने के कारण बैटरी चार्ज नहीं करा पा रहे हैं। जिससे सड़क पर ई- रिक्शा चालक नदारद थे। जिससे सवारी के लिए लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा रहा। स्थानीय लोगों ने महकमे में विद्युत की समस्या से निजात दिलाने के लिए तैतिस केवी विद्युत की लाइन को अतिशीघ्र टावर लाइन के जरिए विद्युत की आपुर्ती कराने कि मांग की है ताकि जरा सी बारिश में विद्युत परिवाही तार व खंभे टूटने और गिरने की समस्या से निजात मिल सके।

Also read: सरकार ने शेल कंपनियों को बंद करने के लिए शुरू किया विशेष अभियान

Add comment


Security code
Refresh