पंजाबः जहरीली शराब ने ली 86 लोगों की जान, मजिस्ट्रियल जांच के आदेश

Liquor

चंडीगढ़ः जहरीली शराब पीने से अब तक पंजाब के तीन जिलों तरनतारन, अमृतसर और गुरदासपुर में 86 लोगों की मौत हो चुकी है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मृतकों के परिवारों को 2-2 लाख रुपये के मुआवजे की घोषणा की है। पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने जहरीली शराब से हुई मौतों पर डिवीजनल कमिश्नर, जालंधर द्वारा मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए। दूसरी तरफ, दिल्ली के सीएम ने सीबीआई से जांच कराने की मांग की है।

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ‘‘अवैध शराब के कारण पंजाब में जानमाल के नुकसान से दुखी सरकार को ऐसे माफियाओं पर अंकुश लगाने के लिए तुरंत आवश्यक कदम उठाने की जरूरत है। इस मामले को तुरंत सीबीआई को सौंप दिया जाना चाहिए क्योंकि पिछले कुछ महीनों से अवैध शराब के मामलों में से कोई भी स्थानीय पुलिस द्वारा हल नहीं किया गया है।’’ 

KWtw

जानकारी के अनुसार शुक्रवार को जहरीली शराब पीने से पंजाब में 48 लोगों की जान गई। वहीं, शनिवार को भी 38 और लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। सिर्फ तरनतारन में ही जहरीली शराब पीने से 63 लोगों की मौत हुई है। अमृतसर ग्रामीण क्षेत्रों में कल 10 और शनिवार को 2 लोगों की मौत हुई। गुरदासपुर (बटाला) में शुक्रवार को 8 और शनिवार को 3 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है।
 
वहीं, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि इस मामले में किसी को बख्शा नहीं जाएगा। अगर किसी भी सरकारी कर्मचारी या अन्य की मिलीभगत सामने आती है तो  उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने नकली शराब बनाने और बेचने से रोकने में पुलिस और आबकारी विभाग की नाकामी को शर्मनाक करार दिया। उन्होंने कहा कि किसी को भी हमारे लोगों को जहर पिलाने की हरगिज इजाजत नहीं दी जाएगी। 

उधर, डीजीपी दिनकर गुप्ता ने शुक्रवार को कहा कि मरने वालों की संख्या में और इजाफा हो सकता है क्योंकि कई इलाकों में नकली शराब का जाल फैला हुआ है। तफ्तीश के बाद ही मालूम हो पाएगा कि और कितनी मौतें नकली शराब के कारण हुई हैं।

पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने पुलिस को दोषियों की खोज करने और इस केस में शामिल सभी व्यक्तियों पर आरोप तय करने के आदेश दिए हैं। इस केस में उन्होंने बीते दिन ही डिवीजनल कमिश्नर को मजिस्ट्रियल जांच करने के आदेश दिए हैं और एक महीने में अपनी रिपोर्ट सौंपने को कहा है। उन्होंने कहा कि ऐसी गैरकानूनी गतिविधि को सहन नहीं किया जाएगा।

Add comment


Security code
Refresh