बिना ट्रेवल हिस्ट्री के अब तक 5 लोग कोरोना पाॅजिटिव, सामाजिक संक्रमण की आशंका

Jonai

धेमाजी: असम के धेमाजी जिले से एक ऐसा मामला सामने आया है, जिससे स्थानीय लोग सकते में है। जिला के जोनाई महकमा सदर स्थित दुर्गा मंदिर के प्रागंण में आज स्थानीय स्वास्थ्य विभाग की ओर से कोरोना वायरस की जांच के लिये रेपिड एंटीजेन कैंप लगाया गया। जिसमें 5 युवकों को कोरोना पाॅजिटिव पाया गया हैं। इनमें किसी की कोई ट्रेवल हिस्ट्री नहीं होने के कारण यहां कोरोना वायरस के सामाजिक संक्रमण या Stage-3 की आशंका बढ़ गयी है।

जोनाई महकमा स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. केके कामान ने कहा कि 154 लोगो को कोरोना जांच के बाद महंत नामसुद्र (25), फुलमणि कुटुम (58), दुलुमणि कुटुम (26), प्रेमधर कुटुम, (65) तथा हिलारी पेगु (19) को कोरोना पाॅजिटिव पाया गया हैं। इन्हे सिलापथार आदर्श चिकित्सालय और धेमाजी आईआईटी कालेज में भेजा जायेगा। साथ ही कोरोना वायरस की जांच में तेजी लाई जायेगी। यह रेपिड एंटीजेन कैंप कई दिनो तक लगातार चलाया जायेगा।  

इन व्यक्तियों ने प्रदेश में या प्रदेश के बाहर कोई यात्रा नहीं की है, साथ ही किसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में भी नहीं आए हैं, जो पहले से कोरोना से ग्रसित हो। ऐसे में इस व्यक्ति का कोरोना वायरस से संक्रमित हो जाना ये सवाल खड़ा करता है कि क्या देश में कोरोना के स्टेज-3 की शुरुआत हो चुकी है।

स्टेज-3 संक्रमण को सामुदायिक संक्रमण भी कहा जाता है, यानि कि इसमें वायरस किसी भी समुदाय में आसानी से फैल रहा है। सामुदायिक संक्रमण में वायरस किसी एक व्यक्ति के संपर्क में आने से नहीं फैलता है बल्कि पूरे समुदाय को अपनी चपेट में लेता है।  

कोरोना का सबसे ज्यादा असर चीन, इटली, ईरान और दक्षिण कोरिया पर पड़ा है। इन चारों देशों में कोरोना के स्टेज-3 यानि कि सामुदायिक संक्रमण की स्थिति आने पर संक्रमित लोगों की संख्या में बहुत ज्यादा तेजी देखी गई। जोनाई में बिना ट्रेवल हिस्ट्री का पहला कोरोना वायरस संक्रमण का मामला, समाजिक संक्रमण की आशंका पैदा करता है। लोगो में भय का माहौल है और प्रशासन सतर्क हो गया है।