आज से शुरू हो रही ICC 'वर्ल्ड कप सुपर लीग', जानिए क्यों है खास

Cricket

नई दिल्लीः इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (ICC) ने सोमवार को ICC मेन्स क्रिकेट वर्ल्ड कप सुपर लीग लॉन्च किया, जो भारत में होने वाले 2023 मेन्स क्रिकेट वर्ल्ड कप के लिए क्वालीफाइंग टूर्नामेंट के रूप में होगा। इस लीग के साथ, ICC का उद्देश्य द्विपक्षीय एकदिवसीय श्रृंखला को और अधिक महत्त्व देना है। 

इंग्लैंड की टीम आयरलैंड के खिलाफ आज (30 जुलाई) से शुरू होने वाली तीन वनडे मैचों की सीरीज की मेजबानी करेगी। सीरीज का पहला वनडे साउथेम्प्टन में भारतीय समयानुसार शाम 6.30 बजे से खेला जाएगा। इस मुकाबले के साथ ही आईसीसी पुरुष क्रिकेट वर्ल्ड कप सुपर लीग का आगाज हो जाएगा। सीरीज के तीन मैच खाली स्टेडियम में खेले जाएंगे, जिनका आयोजन 30 जुलाई, एक और चार अगस्त को होगा।

हालांकि, विभिन्न नियमों में बदलाव के बारे में लीग की घोषणा के साथ, इंटरनेट पर बदलाव शुरू हो गए, जिनके बारे में लोगों को कुछ भी पता नहीं था कि यह लीग कैसे काम करेगी। आइए जानते हैं इस नई लीग के बारे में।

इस लीग में कितनी टीमें भाग लेंगी?
टूर्नामेंट में आईसीसी विश्व क्रिकेट सुपर लीग 2015-17 जीतने वाले नीदरलैंड के साथ 12 पूर्ण सदस्य देशों सहित कुल 13 टीमें भाग लेंगी। इस संस्करण के लिए ये टीमें हैंः भारत, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका, पाकिस्तान, वेस्टइंडीज, श्रीलंका, बांग्लादेश, अफगानिस्तान, आयरलैंड, पाकिस्तान और नीदरलैंड।

लीग की संरचना क्या होगी?
टूर्नामेंट में भाग लेने वाले प्रत्येक देश को कुल आठ श्रृंखलाएं खेलने की आवश्यकता होगी - चार अपने देश में और चार बाहर। प्रत्येक श्रृंखला में कम से कम तीन वनडे होंगे। हालाकि, टीमें श्रृंखला के दौरान अधिक मैचों का आयोजन करने के लिए स्वतंत्र होंगी, लेकिन वह मैच क्रिकेट विश्व कप सुपर लीग का पार्ट नहीं होंगे।

पॉइंट सिस्टम कैसे काम करेगा?
प्रत्येक श्रृंखला में 30 अंक दांव पर होंगे, जिसमें विजयी टीम को अपनी जीत के लिए 10 प्वाइंट मिलेंगे, जबकि हारने वाली टीम को कोई अंक नहीं दिया जाएगा।  अगर मैच टाई रहता है या कोई परिणाम नहीं निकलता, तो ऐसी स्थिति में दोनों टीमों को 5-5 प्वाइंट दिए जायेंगे।

कौन से नियमों में हुआ परिवर्तन?
खेलने के नियम समान होंगे, लेकिन ICC ने दो महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं जो क्रिकेट विश्व कप सुपर लीग का हिस्सा होगा। प्रत्येक पक्ष को प्रत्येक पारी में कुल दो निर्णय समीक्षा प्रणाली (DRS) दिए जाएंगे और फ्रंट-फुट नो बॉल का निर्णय टीवी अंपायरों द्वारा ही लिया जाएगा।

विश्व कप के लिए टीमें कैसे करेंगी क्वालिफाई?
क्रिकेट विश्व कप सुपर लीग के अंत में शीर्ष सात टीमें भारत के अलावा 2023 क्रिकेट विश्व कप के लिए स्वतः ही क्वालीफाई कर लेंगी, जो पहले से ही एक मेजबान राष्ट्र के रूप में है।

यह भी जानें
सुपर लीग 1 मई 2020 से शुरू होने वाली थी, जिसका समापन 31 मार्च 2022 को होना था। कोविड-19 महामारी की वजह से कुछ सीरीज को स्थगित करना पड़ा, जिसमें नीदरलैंड और पाकिस्तान के बीच सीरीज भी शामिल थी। आने वाले दिनों के लिए अन्य सीरीज पर चर्चा जारी है। 2023 में भारत में प्रस्तावित वनडे वल्र्ड कप मार्च-अप्रैल की जगह नवंबर में खेला जाएगा, ताकि क्वालिफाइंग प्रकिया के लिए समय मिल सके।

Add comment


Security code
Refresh