गंभीर का अफरीदी को करारा जवाब, कयामत तक नहीं मिलेगा कश्मीर

Shahid Afridi

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर शाहिद अफरीदी की भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा कश्मीर को लेकर दिए गए विवादित बयान ने भारतीय खिलाडियों को भड़का दिया है। खिलाड़ियों ने अफरीदी को आड़े हाथों लेते हुए कड़ी आलोचना की है।

भारत के पूर्व स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह ने मुंहतोड़ जवाब देते हुए कहा कि अफरीदी अपने हद में रहे। वहीं पूर्व हरफनमौला खिलाड़ी युवराज सिंह ने कहा कि वे निराश हैं। हरभजन सिंह तथा युवराज सिंह ने पूर्व में शाहिद अफरीदी फाउंडेशन के कोविड-19 चैरिटी विडियो को शेयर करने तथा दान देने के लिए खेद प्रकट किया।

भारत के पूर्व क्रिकेटर तथा भाजपा सांसद गौतम गंभीर ने अफरीदी को ट्वीट कर करारा जवाब दिया है। गंभीर ने कहा कि 16 साल का आदमी कहता है कि पाक की 7 लाख सेना को 20 करोड़ लोगों का समर्थन है, फिर भी 70 साल से कश्मीर की भीख मांग रहे। गंभीर ने बांग्लादेश की याद दिलाते हुए कहा कि इमरान, बाजवा, अफरीदी जैसे लोग जहर उगल कर पाकिस्तानी जनता को बेवकुफ बना रहे, उन्हें कयामत तक कश्मीर नहीं मिलेगा।

भारतीय क्रिकेट टीम के गब्बर शिखर धवन ने भी अफरीदी को हड़काया है। शिखर धवन ने कहा कि इस वक्त जब सारी दुनिया कोरोना से लड़ रही है उस वक्त भी तुमको कश्मीर की पड़ी है। कश्मीर हमारा था हमारा है और हमारा ही रहेगा। चाहे 22 करोड़ ले आओ , हमारा एक ,सवा लाख के बराबर है बाकी गिनती खुद कर लेना।

भारतीय हांकी टीम के पूर्व कप्तान धनराज पिल्लै और दिलीप तिर्की ने भी अफरीदी के बयान की आलोचना की है। धाकड़ फारवर्ड खिलाड़ी रहे धनराज पिल्लै ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री के बारे में ऐसी अपमान जनक बातें बर्दाश्त के काबिल नहीं हैं। इस तरह के बयान पाकिस्तान की बौखलाहट को दर्शाता है, वहीं दीवार मानें जाने वाले डिफेंडर दिलीप तिर्की ने कहा कि खेल देशों को जोड़ने का काम करते है, तोड़ने का नहीं। एक खिलाड़ी को खेल भावना का परिचय अपने आचरण में भी देना चाहिए जो आने वाली पीढ़ी के खिलाड़ियों के लिए मिसाल बनना चाहिए।

Add comment


Security code
Refresh