बॉल का वजन एक साइड से बढ़ाना चाहिएः पूर्व स्पिनर शेन वार्न

Shane Warne

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व स्पिनर शेन वार्न भी अब कोरोना वायरस के बाद क्रिकेट में गेंद को चमकाने के लिए लार या पसीने का इस्तेमाल करने या नहीं करने की बहस में शामिल हो गए हैं। उन्होंने बॉल को एक साइड से वजन बढ़ाने की सलाह दी है। वार्न ने कहा है कि ऐसा करने से तेज गेंदबाज को फ्लैट विकेट पर भी लगातार स्विंग मिलती रहेगी और बॉल टेम्परिंग भी जड़ से खत्म हो जाएगी। शेन वार्न ने एक निजी स्पोर्ट्स चैनल में दिए गए एक इंटरव्यू में ये कहा कि ‘‘क्यों हम गेंद को एक तरफ से भारी नहीं बना सकते, जिससे की वह हमेशा स्विंग होती रहे? यह टेप लगी हुई टेनिस या लॉन बॉल की तरह हो सकती है। मुझे नहीं लगता कि आप वसीम अकरम और वकार यूनुस की तरह गेंद को स्विंग कराना चाहेंगे, लेकिन इससे तेज गेंदबाजों को टेस्ट के दूसरे और तीसरे दिन भी फ्लैट विकेट पर स्विंग मिलेगी।’’

शेन वार्न ने कहा, ‘‘क्रिकेट में आगे बढ़ने का यह सही तरीका रहेगा। इससे गेंद के साथ छेड़छाड़ भी नहीं करनी पड़ेगी। इतने सालों में बल्ले को लेकर कितने सारे बदलाव किए गए हैं। 80 के दशक में खिलाड़ियों ने अपना करियर जिस बल्ले के साथ शुरु और फिर बाद में अंत किया। उन दोनों बल्लों में काफी अंतर रहा है। तब से अब तक बल्ले का आकार घटता-बढ़ता रहा है, लेकिन गेंद में कोई बदलाव नहीं हुआ है। बॉल का वजन बढ़ाने से बल्ले के साथ इसका संतुलन स्थापित हो सकता है।’’

खैर बात कुछ भी हो। क्या शेन वार्न की इस सलाह को माना जा सकता है? ये एक बड़ा सवाल है? क्या आईसीसी मैदान में खेली जानी वाली क्रिकेट बॉल में बदलाव करेगा?

 

Comments   

0 #1 Jaspal 2020-05-06 19:58
Jabardast.
Quote

Add comment


Security code
Refresh