नक्सलियों ने अगवा कोबरा जवान राकेश्वर सिंह मन्हास को किया रिहा

CRPF

नई दिल्लीः नक्सलियों द्वारा अगवा किए गए कोबरा जवान राकेश्वर सिंह मन्हास को गुरुवार (8 अप्रैल) को रिहा कर दिया गया। कोबरा जवान राकेश्वर सिंह मन्हास का 3 अप्रैल को नक्सलियों द्वारा उनका अपहरण कर लिया गया था। मन्हास को बीजापुर में एक सीआरपीएफ शिविर में लाया गया है। उसे पिछले सप्ताह बीजापुर में घात लगाकर हमले के दौरान नक्सलियों ने पकड़ लिया था।

नक्सलियों ने 6 दिन बाद सरकार द्वारा गठित दो सदस्यीय मध्यस्ता टीम के सदस्य पद्मश्री धर्मपाल सैनी, गोंडवाना समाज के अध्यक्ष तेलम बोरैया समेत सैकड़ों ग्रामीणों की मौजूदगी में कोबरा जवान को रिहा किया है। जवान की रिहाई के लिए मध्यस्ता कराने गई टीम अब जवान को लेकर बासागुड़ा स्थित सीआरपीएफ कैंप लौट रही है।

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने ट्विटर पर लिखा, ‘‘केंद्र सरकार और राज्य सरकार के स्थानीय पुलिस अधिकारियों के प्रयासों से बीजापुर में नक्सल विरोधी अभियान के दौरान अपहृत जवान राकेश्वर मन्हास को रिहा करा लिया गया है। जवान का सकुशल रिहा होना उनके परिवारीजनों सहित समस्त देश एवं प्रदेशवासियों के लिए प्रसन्नता एवं गर्व का विषय है।’’

Capture

रिहाई की खबर से जवान के परिवार में खुशी का माहौल है। उनकी पत्नी मीनू मन्हास ने बताया, ‘‘मैं भगवान, केंद्र सरकार और छत्तीसगढ़ सरकार का, मीडिया और सेना का धन्यवाद करती हूं। आज मेरी जिंदगी में सबसे खुशी का दिन है।’’ वहीं जवान की मां कुत्नी देवी ने कहा, ‘‘हम बहुत ज्यादा खुश हैं. जो हमारे बेटे को छोड़ रहे हैं उनका भी धन्यवाद करती हूं। जब सरकार की बात हो रही थी तो मुझे थोड़ा भरोसा तो था, परन्तु विश्वास नहीं हो रहा था।’’

Add comment


Security code
Refresh