Corona Update: सक्रिय मामलों की संख्या स्थिर, जांच का आंकड़ा 14 करोड़ के पार

Graph

नई दिल्ली: देशभर में पिछले 24 घंटों में केवल 38,772 व्यक्ति कोविड से संक्रमित पाए गए। इसी अवधि में, देश में कोरोना संक्रमण से ठीक होने वालों की संख्या 45,333 दर्ज की गई, जिससे सक्रिय मामलों की संख्या (केस लोड) में 7,004 मामलों की शुद्ध कमी सुनिश्चित हुई। भारत में कोविड के सक्रिय मामलों की संख्या (केस लोड)में कमी ने यह सुनिश्चित किया है कि भारत में मौजूदा कोविड मामलों की 4,46,952 संख्या भारत के कुल पॉजिटीव मामलों का केवल 4.74% हिस्सा है।

कोरोना वायरस के संक्रमण से ठीक होने वालों की संख्या नए मामलों से अधिक होने की वजह से आज इस बीमारी से ठीक होने की दर (रिकवरी रेट) बढ़कर 93.81% तक पहुंच गई है। अब तक कोरोना संक्रमण से ठीक होने वाले लोगों की कुल संख्या 88,47,600 हो गई है। संक्रमण से ठीक होने वालों की संख्या और इसके सक्रिय मामलों के बीच का अंतर, जो लगातार बढ़ रहा है, वर्तमान में 84,00,648 है यानी सक्रिय मामलों का 19.8 गुना है।

कर्नाटक, महाराष्ट्र, केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश ने पिछले एक महीने में सक्रिय मामलों में सबसे अधिक गिरावट दर्ज की है।

वहीं दूसरी ओर, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा और राजस्थान में कोरोना संक्रमण के सक्रिय मामलों में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है।

भारत ने आज कोविड परीक्षण के 14 करोड़ का आंकड़ा पार करते हुए कोविड के खिलाफ अपनी लड़ाई में एक मील का पत्थर पार कर लिया है। पिछले 24 घंटों में 8,76,173 परीक्षण किए गए हैं। भारत ने कोविड परीक्षण की अपनी प्रति दिन की क्षमता 15 लाख तक बढ़ा दी है।

पिछले 24 घंटों में दर्ज किए गए नए मामलों में दस राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों का 78.31% योगदानहै।

केरल में पिछले 24 घंटों में 5,643 नए मामलेदर्ज किए गए जबकि दूसरे नंबर पर महाराष्ट्र ने करीब 5,544 नए मामले दर्ज किए। दिल्ली में कल 4,906 नए मामले दर्ज किए गए।

इस बीमारी से ठीक होने वाले नए मामलों में दस राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों का 76.94% का योगदान है।

कोविड से 6,325 लोगों के ठीक होने के साथ ही दिल्ली में सबसे बड़ी संख्या में रिकवरी दर्ज की गई। केरल ने 5,861 दैनिक रिकवरी दर्ज की,जबकि महाराष्ट्र मेंएक दिन में 4,362 लोग इस बीमारी से ठीक हुए।

इस बीमारी से पिछले 24 घंटों में मौत के सामने आए 443 मामलों में से 78.56% मामले दस राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों के हैं। राष्ट्रीय स्तर पर इस बीमारी से होने वाली मौत की दर गिरकर 1.45% तक आ गई है। भारत दुनिया के उन कुछ देशों में शामिल है जहांइस बीमारी से विश्व में प्रति दस लाख की जनसंख्या में सबसे कम मौतें हो रही है, वर्तमान में यह दर 99.4 प्रति दस लाख है।

महाराष्ट्र में इस बीमारी से 19.18% नई मौतें हुईं जहां 85 लोगों की मौत दर्ज की गई है। वहीं दिल्ली में 68 लोगों की मौत हुई जबकि पश्चिम बंगाल में 54 नई मौतें हुईं।

Add comment


Security code
Refresh