भारत ने दिया चीन को बड़ा झटका, कलर टीवी के आयात पर प्रतिबंध

Tv

नई दिल्लीः भारत आर्थिक मोर्चे पर चीन को लगातार झटके दे रहा है। अब भारत सरकार ने रंगीन टेलीविजन सेट के आयात पर प्रतिबंध लगा दिया है। रंगीन टेलीविजन चीन से बड़े पैमाने पर आयात किए जाते हैं, लेकिन अब सरकार ने इसे तत्काल प्रभाव से प्रतिबंधित कर दिया है। इस कदम का उद्देश्य टेलीविजन के घरेलू उद्योग को बढ़ावा देना और चीन जैसे देशों से गैर-जरूरी वस्तुओं के आयात को कम करना है।

सरकार का कहना है कि घरेलू उत्पादन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से यह कदम उठाया गया है। आयात पर प्रतिबंध से मेक इन इंडिया को बल मिलेगा। लेकिन भारत के इस फैसले से चीन को बड़ा नुकसान होने वाला है।

टीवी आयात नियमों में बदलाव
पीटीआई के मुताबिक, विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने एक अधिसूचना में कहा कि रंगीन टेलीविजन की आयात नीति को बदल दिया गया है, अब इसे प्रतिबंधित श्रेणी में डाल दिया गया है। सरकार का कहना है कि चीन जैसे देशों से गैर-जरूरी सामानों के आयात को कम करना होगा।

किसी भी उत्पाद को प्रतिबंधित श्रेणी में रखने के बाद, अब जो व्यापारी उस माल का आयात करता है, उसे वाणिज्य मंत्रालय के तहत क्ळथ्ज् से आयात के लिए लाइसेंस लेना होगा।

भारत किन देशों से आयात करता है कलर टीवी
चीन भारत में रंगीन टीवी का सबसे बड़ा निर्यातक है। इसके बाद वियतनाम, मलेशिया, हांगकांग, कोरिया, इंडोनेशिया, थाईलैंड और जर्मनी जैसे देश हैं।

भारत ने 2019-20 में 78.1 करोड़ डॉलर मूल्य के रंगीन टीवी आयात किये. वियतनाम और चीन से आयात पिछले वित्त वर्ष में क्रमशः 42.8 करोड़ डॉलर और 29.3 करोड़ डॉलर का हुआ।

गौरतलब है कि सीमा पर चीनी सेना की हरकतों के बाद देश में चीन के खिलाफ तनाव का माहौल पैदा हो गया है। पिछले महीने 59 ऐप जिनमें टिकटॉक, वी चैट आदि शामिल थे, को बंद कर दिया गया था, जिसके बाद 47 चीनी ऐप फिर से बंद करने का फैसला किया गया था। इतना ही नहीं, भारत में चीनी कंपनियों द्वारा प्राप्त कई निविदाएं भी खारिज की हैं।