दिल्ली से नोएडा आने वालों को गुजरना होगा 'रेपिड एंटीजन टेस्ट' से

DND
 नई दिल्लीः गौतम बुद्ध नगर के स्वास्थ्य अधिकारियों को बुधवार को नोएडा-दिल्ली की दो प्रमुख सीमाओं पर तैनात किया गया, जहां उन्होंने राष्ट्रीय राजधानी से आने वाले लोगों के कोरोना के रैंडम परीक्षण शुरू किए गए हैं। दिल्ली में कोरोना मामलों में उछाल के बीच वरिष्ठ प्रशासन और स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ बैठक के बाद मंगलवार को जिला मजिस्ट्रेट सुहास एल वाई द्वारा दिल्ली से आने वाले लोगों के रैंडम परीक्षण की घोषणा की गई है।

गौतम बुद्ध नगर के मुख्य चिकित्सा अधिकारी दीपक ओहरी ने कहा कि स्वास्थ्य अधिकारियों की टीम दिल्ली-नोएडा-डायरेक्ट (DND) फ्लाईवे और चिल्ला की सीमाओं पर मौजूद हैं जो राष्ट्रीय राजधानी से नोएडा में प्रवेश के लिए दो महत्वपूर्ण प्रवेश बिंदु हैं। हम लोगों पर रैपिड एंटीजन आधारित परीक्षण कर रहे हैं ताकि ट्रैफिक मूवमेंट प्रभावित न हो। ये टेस्ट यह सुनिश्चित करने के लिए किया जा रहा है कि संक्रमण गौतम बौद्ध नगर में न फैले।

व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) पहनने वाले कई स्वास्थ्यकर्मी सीमावर्ती स्थानों पर पुलिसकर्मियों के साथ हैं, जहां उन्होंने रैपिड एंटीजन-आधारित परीक्षण के लिए डेस्क स्थापित किए हैं, जो 15 मिनट में परिणाम देता है। परीक्षण के परिणाम के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाती है।

स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि यदि किसी को सकारात्मक पाया जाता है, तो उन्हें वापस दिल्ली भेज दिया जाता है। केवल नकारात्मक परीक्षण करने वालों को नोएडा में प्रवेश करने की अनुमति है। परीक्षण और रसद के लिए सभी सुविधाएं सीमाओं पर उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि गुरुवार को दिल्ली से सटे अशोक नगर और नोएडा के बॉटनिकल गार्डन मेट्रो स्टेशन पर इसी तरह का अभियान चलाया जाएगा।

बता दें कि अब तक नोएडा में 20,566 कोरोना के मामले दर्ज किए गए हैं जिसमें 1 नवंबर से लेकर 17 नवंबर तक सबसे ज्यादा 2,727 नए मामले सामने आए हैं। वहीं दिल्ली में इस महीने आश्चर्यजनक रूप से संक्रमण के मामलों में तेजी आई है। मंगलवार की शाम तक दिल्ली में उसके पिछले 24 घंटों में 6396 नए कोरोना मामले दर्ज किए गए, वहीं 99 लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही दिल्ली में अब तक कोरोना के कुल मामले 4,95,598 हो चुके हैं।

Add comment


Security code
Refresh