24 घंटे में ‘बाबा का ढाबा’ हुआ फेमस, मटर पनीर खाने वालों की लगी लाईन

Baba

नई दिल्लीः महामारी के दौरान, हम सभी कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए अपने घरों के अंदर बंद रहे हैं। दिल्ली के लोग स्ट्रीट फूड के दीवाने हैं ये तो सबको पता ही होगा। लेकिन कोरोना काल में जहां लोगों ने घर से निकलना छोड़ दिया, वहीं बाहर खाना-पीना भी बहुत कम कर दिया। ऐसे में उन लोगों का क्या हुआ होगा, जो  पटरी पर खाना बनाकर या छोटा-मोटा ढ़ाबा चलाकर अपना और अपने परिवार का गुजर-बसर करते थे। ऐसा ही है एक बाबा का ढ़ाबा, जिसमें 80 साल के बुजुर्ग दम्पत्ति किसी तरह बामुश्किल लोगों को घर का बना खाना खिलाकर अपना और अपनी पत्नी का पेट पाल रहे थे, लेकिन कोरोना ने सब चौपट कर दिया। 

Video Link:

बता दें कि दिल्ली के मालवीय नगर के एक बुजुर्ग दंपति की ऐसी ही एक दिल को छू लेने वाली कहानी सुनकर दिल्ली के लोग अपनी आंखों में आंसू नहीं रोक पाए। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि लोगों ने उनके ढाबे पर खाना बंद कर दिया है। इससे इस दम्पत्ति की इनकम खत्म हो गई और उनके लिए अपना घर चलाना मुश्किल हो गया। ऐसे में किसी से इनकी दुर्दशा नहीं देखी गई और इनका वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर डाल दिया। देखते ही देखते यह वीडियो वायरल हो गया और बाबा के ढ़ाबे पर खाने वालों की लाईन लग गई।

दिल्ली के आशुतोष ने अपने ट्विटर पर ये वीडियो शेयर किया, वीडिया में बुजुर्ग दंपति को रोते हुए दिखाया गया है। रिकॉर्डिंग करने वाला आदमी उनसे शांत रहने का आग्रह कर रहा है। वीडियो के अनुसार, यह दंपति 1988 से इस स्टॉल पर खाना बनाने का काम कर रहा है। वीडियो बनाने वाले व्यक्ति ने बताया कि बाबा का ढाबा चलाने वाले दंपति कोरोना काल में खाना नहीं बेच पाए हैं। वह उनके द्वारा बनाई गई डिश भी दिखाता है, जो बहुत अच्छी बनी है। फिर वह स्टाल के बारे में बताता है और लोगों से वहां आने के लिए कहता है।

वीडियो साझा किए जाने के तुरंत बाद, यह तुरंत ट्विटर पर वायरल हो गया और 1.7 मिलियन से अधिक बार देखा गया। नेटिजन्स ने बड़ी संख्या में वीडियो को रीट्वीट किया और दिल्ली के लोगों से बुजुर्ग दंपत्ति के व्यवसाय को न केवल जाने और समर्थन करने का अनुरोध किया, बल्कि उनके क्षेत्रों के सभी स्थानीय व्यवसायों को भी समर्थन दिया। इस वीडियो पर पूरे देशभर से प्रतिक्रिया आ रहीं हैं और इस कड़ी में अब बाॅलीवुड सेलेब्स भी शामिल हो गए हैं। वैसे, बाबा ने इतनी भीड़ को देखकर कहा कि और भी लोगों की मदद करो।