खादी इंडिया ने गांधी जयंती के अवसर पर 1.02 करोड़ रुपये की रिकार्ड बिक्री दर्ज की

Khadi

नई दिल्लीः खादी प्रेमियों की ऊंची भावना ने इस गांधी जयंती के अवसर पर कोविड-19 के डर को पीछे छोड़ दिया। कनॉट प्‍लेस स्थित दिल्‍ली के प्रमुख खादी इंडिया विक्रय केन्‍द्र ने गांधी जयंती के अवसर पर एक करोड़ रुपये से अधिक की रिकॉर्ड बिक्री की। शुक्रवार (2 अक्‍टूबर) को खादी की कुल मिलाकर 1,02,19,496 रुपये की बिक्री दर्ज हुई, जो कोरोना महामारी की मौजूदा स्थिति को देखते हुए बहुत अधिक है। पिछले साल 2 अक्‍टूबर को इस बिक्री केन्‍द्र से कुल 1.27 करोड़ रुपये की बिक्री हुई थी।

पूरे दिन में 1633 बिल बनाए गए और औसत बिक्री 6258 रुपये प्रति बिल रही। सुबह से ही खादी इंडिया बिक्री केन्‍द्र पर विभिन्‍न क्षेत्रों और आयुवर्ग के ग्राहक पंक्तिबद्ध खड़े होने शुरू हो गए थे। उल्‍लेखनीय है कि खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग (केवीआइसी) ने महात्‍मा गांधी की 151वीं जयंती के अवसर पर अपने सभी उत्‍पादों पर 20 प्रतिशत की विशेष प्रथागत छूट देने की शुरुआत की है।

केवीआईसी के अध्‍यक्ष श्री विनय कुमार सक्‍सेना ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी की खादी खरीदने की लगातार अपील के कारण बड़े पैमाने पर खादी की बिक्री हुई है। इसके अलावा जनता में, विशेष रूप से युवाओं में खादी की बढ़ती हुई लोकप्रियता ने भी इसमें योगदान दिया है। कोरोना महामारी के बावजूद लोग अभी भी खादी खरीदने के लिए आ रहे हैं, यह माननीय प्रधानमंत्री की बार-बार की गई अपील का ही नतीजा है कि खादी एक घरेलू नाम बन गया है और खादी प्रेमियों की संख्‍या लगातार बढ़ रही है। उत्‍पादन में कई गुना बढ़ोतरी के बावजूद केवीआईसी ने अपनी उत्‍पाद श्रृंखला की उच्‍च गुणवत्‍ता को सुनिश्चित किया है और अपने उपभोक्‍ता आधार को भी बरकरार रखा है। श्री सक्‍सेना ने कहा कि यद्यपि इस साल बिक्री के आंकड़े महामारी के कारण पिछले साले के मुकाबले कुछ कम रहे, फिर भी एक दिन में एक करोड़ रुपये से अधिक की बिक्री का आंकड़ा काफी संतोषजनक था।

इस वर्ष खादी की अधिक बिक्री का यह आंकड़ा काफी महत्‍व रखता है। जब कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान लगभग सभी गतिविधियां बंद थीं, तब भी केवीआईसी ने देश में अपनी विविध गतिविधियां जारी रखीं। इन गतिविधियों में फेस मास्‍क और व्‍यक्तिगत स्‍वच्‍छता उत्‍पाद जैसे हैंडवाश, हैंड सेनिटाइज़र्स के विनिर्माण के अलावा कपड़ों तथा ग्रामोद्योग उत्‍पादों की बड़ी श्रृंखला भी शामिल हैं।   

Comments   

0 #2 click site 2020-10-05 08:50
whoah this blog is great i like reading your posts.
Stay up the good work! You recognize, many people are
looking around for this info, you can aid them greatly.
Quote
0 #1 Jessie 2020-10-05 04:36
Hello there! This is kind of off topic but I need some help from an established
blog. Is it very difficult to set up your own blog? I'm not very techincal but I can figure things out pretty quick.
I'm thinking about setting up my own but I'm not sure where to begin. Do
you have any points or suggestions? Thank you
Quote

Add comment


Security code
Refresh