लॉकडाउन 4.0ः दिल्ली सरकार की गाइडलाइन में क्या खुलेगा, क्या बंद रहेगा

Kejriwal001

नई दिल्लीः 31 मई तक के लिए दिल्ली सरकार ने सोमवार को कंटेनमेंट जोन के बाहर सभी बाजार व मार्केट कॉम्प्लेक्स खोलने की अनुमति दे दी। लेकिन दुकानें ऑड-ईवन सिस्टम से खोली जाएंगी और सामाजिक दूरी का कड़ाई से पालन करना होगा। इसके साथ ही केंद्र की ओर से जारी गाइडलाइन का पालन करते हुए निजी व सार्वजनिक परिवहन के साधनों के अलावा ऑटो व कैब भी चलेंगी। सरकारी और निजी दफ्तर, स्टेडियम व स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स भी खोल दिए गए हैं। शाम करीब साढ़े पांच बजे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में लॉकडाउन-4 के तहत अगले दो सप्ताह तक सरकार की कार्ययोजना की रूपरेखा प्रस्तुत की।  

केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली में कोरोना के मामले में दिनोदिन बढ़ रहे हैं, लेकिन औद्योगिक गतिविधियों को भी चलाने की जरूरत है, ताकि लोगों को रोजगार मिल सके। ऐसे में सभी औद्योगिक क्षेत्र व उद्योग और निर्माण गतिविधि चल सकेंगी। हालांकि, दिल्ली मेट्रो, होटल, सिनेमा हॉल, मॉल, जिम, थियेटर, ऑडिटोरियम, स्कूल व कॉलेज, धार्मिक स्थल, सैलून, स्पॉ आदि को बंद रखने का फैसला लिया गया है।

सेवाएं जो शुरू की गईं

नाई, स्पाॅ और सैलून अभी बंद रहेंगे। शाम 7 से सुबह 7 बजे तक घर से निकलने की अनुमति नहीं होगी। 

रेस्टोरेंट को खोलने की अनुमति रहेगी, लेकिन वहां पर बैठ कर खाने की अनुमति नहीं होगी। रेस्टोरेंट से सिर्फ होम डिलीवरी की अनुमति रहेगी। 

स्पोर्टस काम्प्लेक्स और स्टेडियम खोल दिए जाएंगे। 

आटो रिक्शा, ई-रिक्शा, साइकिल रिक्शा को सड़क पर उतरने की अनुमति रहेगी, लेकिन वह सिर्फ एक ही सवारी को बैठा सकते हैं। टैक्सी, कैब को भी अनुमति होगी, लेकिन यह सिर्फ दो सवारी ही बैठा सकेंगे। 

ग्रामीण सेवा, फट-फट सेवा और ईको फ्रैंडली सेवा को भी छूट दी जा रही है, लेकिन यह सिर्फ दो सवारी ही ले सकेंगे। मैक्सी कैब में केवल 5 सवारी और आरटीवी में 11 सवारी बैठ सकेंगे। कार पूलिंग और कार शेयरिंग की अनुमति नहीं होगी।

आज से दिल्ली में बसें चलनी चालू हो जाएंगी। एक बस में 20 से अधिक सवारी को बैठने की अनुमति नहीं होगी। बस में चढ़ने से पहले हर पैसेंजर की स्क्रीनिंग की जाएगी। 

पूरी दिल्ली में व्यक्तिगत वाहन के आवागमन की अनुमति रहेगी। चार पहिया वाहन में 2 से अधिक सवारी की अनुमति नहीं होगी और दो पहिया वाहन पर चालक के पीछे किसी को बैठने की अनुमति नहीं होगी।

सभी सरकारी और प्राइवेट कर्यालय खुल जाएंगे। सभी इंडस्ट्री खोली जाएंगी, लेकिन भीड़ को रोकने के लिए इनके खुलने के समय में बदलाव किया गया है।

निर्माण गतिविधियां भी शुरू की जा रही हैं, लेकिन सिर्फ दिल्ली में रहने वाले लोग ही कंस्ट्रक्शन साइट पर काम कर सकेंगे। अभी बाॅर्डर से बाहर से कर्मचारियों को लाने की अनुमति नहीं होगी। 

शादी के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के साथ केवल 50 लोगों की अनुमति रहेगी। दाह संस्कार के लिए केवल 20 लोगों की अनुमति रहेगी ।   

सेवाएं जो बंद रहेंगी

मेट्रो नहीं चलेंगी। सभी स्कूल, काॅलेज, ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट आदि बंद रहेंगे।

सभी होटल, सिनेमा हाॅल, शाॅपिंग माॅल, जिम्नेजियम, स्वीमिंग पूल, इंटरटेनमेंट पार्क, थियेटर, बाॅर, आडिटोरियम, असेंबली हाॅल्स बंद रहेंगे। 

सामाजिक, राजनीतिक, खेल, इंटरटेनमेंट, एकेडमिक, सांस्कृतिक और धार्मिक या किसी अन्य प्रकार की गतिविधि, जिसमें काफी भीड़ एकत्र होती है, उसकी अनुमति नहीं होगी। 

कोई भी धार्मिक स्थान या वहां पर पूजा की गतिविधि बंद रहेगी। कोई भी धार्मिक कार्यक्रम में भीड़ एकत्र होने की अनुमति नहीं होगी। 

65 साल से अधिक उम्र के लोग और 10 साल से कम उम्र के बच्चों, गर्भवती महिलाएं और जिन लोगों को गंभीर बीमारियां डायबिटिज, दिल की बीमारी आदि हुई है, उनको घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होगी। 

बाॅर्डर पर इंटर स्टेट के सामान और कार्गो या खाली ट्रक हो, उनको आने-जाने की अनुमति रहेगी।

सबको मास्क पहन कर निकलना अनिवार्य है। 

हमें कोरोना के साथ जीने की आदत डालनी पड़ेगी। कोरोना भी रहेगा और अपनी जिंदगी भी चलानी होगी। हमें अपने और अपने परिवार का ख्याल रखना है। इसलिए सामाजिक दूरी का कड़ाई से पालन करिए, मास्क लगाकर ही घर से निकलें। कोरोना के किसी भी लक्षण के दिखाई देने पर डाॅक्टर का परामर्श अवश्य लें।

Add comment


Security code
Refresh