महंगाई की मारः सब्जियों के दाम छू रहे आसमान, क्या करे आम इंसान

Sabjimandi

नई दिल्लीः आमतौर पर, अनुपलब्धता और कम आपूर्ति के कारण मई से जुलाई के बीच सब्जियों और फलों की कीमतें उच्च स्तर पर रहती हैं। लेकिन, इस बार, सब्जियों की कीमतें हर दिन एक नई ऊंचाई को छू रही हैं। वैसे, लॉकडाउन के समय सब्जियों के दामों में इतनी तेजी देखने को नहीं मिली थी। लेकिन अनलॉक के बाद सब्जियों के दामों में हो रही बेतहाशा वृद्धि ने गरीबों व मध्यम वर्गीय लोगों को सोचने पर मजबूर कर दिया है। 

आमतौर पर इस्तेमाल होने वाली सब्जियां जैसे- आलू, प्याज और टमाटर के दाम आसमान छू रहे हैं। वैसे ये ट्रेंड रहा है कि इनमें से एक सब्जी के दाम हमेशा ऊंचे रहते हैं। ऐसे में बाकी सब्जियां सस्ती मिल जाती है, और गरीब व मध्यम वर्गीय लोग मैनेज कर लेते हैं। लेकिन कोरोना काल में अनलाॅक के बाद से ही सभी सब्जियों के दाम उच्चतम स्तर पर हैं। यहां तक कि सर्दियों में मिलने वाली सब्जियां जैसे- मटर, गोभी, मूली और हरी सब्जियों के दाम कई गुना ज्यादा हैं। इसके साथ ही दालों के रेट भी पहले से कहीं ज्यादा हैं। तो ऐसे में गरीब और मध्यम वर्ग कहां जाए।

अब केन्द्र और राज्य सरकारों को सोचना होगा कि आखिर कैसे इस महंगाई पर कैसे काबू पाया जाए। वैसे, जब तक किसान अपनी फसल खुले बाजार में खुद से नहीं बेच सकेगा तब तक ये मुश्किल लगता है कि मौसमी सब्जियां और फल आप तक सस्ते में पहुंच सकें। सरकारों को ये सोचना होगा कि कैसे किसान और उपभोक्ता के बीच आने वाले इन बिचैलियों को खत्म किया जाये ताकि आम आदमी तक जरूरत की चीजें सस्तें में पहुंच सकें।

हालांकि, आलू, प्याज के साथ ही टमाटर के दाम बढ़ने के कारण हर घर के किचेन का बजट बिगाड़कर रख दिया है। जहां थोक विक्रेता मुनाफे के चक्कर में किसानों से सस्ते दामों पर आलू खरीदकर उसे मंहगा बेच रहे है तो फुटकर व्यवसाई भी करीब दस रुपए किलो का मुनाफा लेकर ही सब्जियों की सप्लाई कर रहे है। दुकानदारों का कहना है कि आलू 36 रुपए प्रति किलों के दाम पर थोक में मिलता है जबकि प्याज 40 रुपए के आसपास में मिल रही है ओर टमाटर भी 40 के आसपास ही मिल रहा है। तो जाहिर सी बात है कि रेहड़ी पर सब्जी बेचने वाला भी 10 रूपये तो कमायेगा ही। इसी के चलते आलू, प्याज और टमाटर के खुदरा दाम कम होने का नाम नहीं ले रहे। अब जबकि नया आलू बाजार में आ गई है तो उपभोक्ताओं को इस महंगाई से थोड़ी राहत मिल सकती है।

खुदरा दामों पर एक नजर
आलू पुराना 45 रुपए प्रति किलो
आलू नया 50 रुपए प्रति किलो
टमाटर 50 रुपए प्रति किलो
प्याज 60-80 रुपए प्रति किलो
लहसुन 120 रुपए प्रति किलो
मटर 100-120 रुपए प्रति किलो
गोभी 40 रुपए प्रति किलो
मूली 30-40 रुपए प्रति किलो
हरा साग 40 रुपए प्रति किलो
कद्दू 40 रुपए प्रति किलो

Add comment


Security code
Refresh