दिवाली पर चीन और कोरोना को दी मात, भारतीय कंपनियों ने 72 हजार करोड़ का बिजनेस किया

Shop

नई दिल्लीः ट्रेडर की संस्था कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने रविवार को कहा कि इस दिवाली के दौरान देश भर के बड़े बाजारों में लगभग 72,000 करोड़ रुपये की रिकॉर्ड बिक्री हुई है। सीएआईटी के अनुसार, उनके चीनी सामानों के बहिष्कार के आह्वान पर इस साल की दिवाली के दौरान कोई भी चीनी सामान नहीं बेचा गया, जिससे भारतीय कारोबारियों को मुनाफा कई गुना बढ़ गया है।

चीन को हुआ भारी नुकसान 
सीएआईटी ने एक बयान में कहा, 20 अलग-अलग शहरों से इकट्ठा की गई रिपोर्टों के अनुसार, जिन्हें भारत का अग्रणी वितरण केंद्र (अग्रणी वितरण केंद्र) कहा जाता है, यह माना जाता है कि दिवाली उत्सव की बिक्री से लगभग 72,000 करोड़ रुपये का कारोबार हुआ और चीन को 40,000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, बेंगलुरु, हैदराबाद, कोलकाता, नागपुर, रायपुर, भुवनेश्वर, रांची, भोपाल, लखनऊ, कानपुर, नोएडा, जम्मू, अहमदाबाद, सूरत, कोचीन, जयपुर, चंडीगढ़ सहित बीस शहरों को वितरण शहर माना जाता है।

जबरदस्त मुनाफे से खुश हुए बिजनेसमैन
सीएआईटी ने कहा कि दिवाली के त्योहारी सीजन के दौरान वाणिज्यिक बाजारों में हुई जबरदस्त सेल भविष्य में लोकल बिजनेस की अच्छी संभावनाओं को लेकर संकेत देती है। लिहाजा अब देश के व्यापारियों के चेहरे पर कुछ मुस्कुराहट वापस ला सकती है। एफएमसीजी सामान, उपभोक्ता टिकाऊ वस्तुएं, खिलौने, बिजली के उपकरण और सामान, इलेक्ट्रॉनिक उपकरण, रसोई के सामान, उपहार की वस्तुएं, मिष्ठान्न वस्तुएं, मिठाई, घर की सजावट, टेपेस्ट्री, बर्तन, सोना और आभूषण, जूते, घड़ियां, फर्नीचर, दिवाली पर सबसे ज्यादा खरीदे जाने वाले सामानों में शामिल है। कपड़े, फैशन अपेरल्स, होम डेकोरेशन के सामान की भी खरीदारी हुई।

पूरे देश में ‘लोकल फाॅर वोकल’ कर तर्ज पर न तो व्यापारियों ने चीनी सामान बेचा और न ही उपभोक्ताओं ने चीनी सामान की मांग की। देशभर के व्यापारी कैट के आव्हान पर दिसंबर, 2021 तक चीन से एक लाख करोड़ रुपये के आयात को कम करने के लिए पूरी तरह संकल्पित हैं। पूरे देश में बाजारों, कार्यालयों और घरों एवं दुकानों को मिट्टी से बने छोटे तेल के दीयों से सजाया गया था। पारंपरिक भारतीय सामानों का भी दुकानों और घरों को सजाने के लिए भी बड़ा इस्तेमाल हुआ। जिससे भारत में छोटे व्यापारियों को जबरदस्त मुनाफा हुआ है।

Add comment


Security code
Refresh