Women empowerment: आईटी कंपनी का नेतृत्व करने वाली पहली महिला बनीं रोशनी नादर

Roshni Nadar

नई दिल्ली: समाचार एजेंसी पीटीआई की खबर के मुताबिक शुक्रवार को एचसीएल टेक्नोलाजीज़ ने घोषणा की कि कंपनी के संस्थापक और चेयरमैन शिव नादर अपना पद छोड़ रहे हैं और कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने उनकी बेटी रोशनी नादर को कंपनी का नया चेयरपर्सन नियुक्त किया है।

इससे पहले इस पद पर रोशनी के पिता शिव नादर थे, जो इस कंपनी का नेतृत्व कर रहे थे। हालांकि, वह आने वाले समय में भी कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर बने रहेगें। उन्होंने साल 1976 में इस कंपनी की नीवं रखी थी और यह कंपनी भारत की प्रमुख आईटी कंपनियों में से एक मानी जाती है। मौजूदा जानकारी के मुताबिक, एचसीएल इंटरप्राइज़ 9.9 अरब अमरीकी डॉलर की कंपनी मानी जाती है।

भारत की सबसे अमीर महिला रोशनी नादर इस पद के साथ एक लिस्टेड भारतीय आईटी कंपनी का नेतृत्व करने वाली पहली महिला बन गई हैं। रोशनी नादर एचसीएल ग्रुप से काफी समय से जुड़ी हुई हैं। इससे पहले वह एचसीएल कार्पोरेशन की सीईओ और ऐक्जीक्यूटिव डायरेक्टर हैं जिनका काम संस्थान के लिए रणनीति बनाना है। इसके साथ ही वे सीएमआर कमेटी की चेयरपर्सन भी हैं।

वे शिव नादर फाउंडेशन की ट्रस्टी भी हैं जो शिक्षा के क्षेत्र में काम करता है।इसके साथ ही वह विघा-ज्ञान की चेयरपर्सन भी हैं जो अक्षम और ग्रामीणों विघार्थियों के लिए काम करती है। उन्होंने साल 2018 में 'द हैबिटेट ट्रस्ट की स्थापना भी की थी जो पर्यावरण संरक्षण और भारत की जीव-विविधता को संरक्षण प्रदान कराने के लिए कार्य करता है।

साल 2019 में Hurun Rich list ने उन्हें 36,800 करोड़ रूपये की संपत्ति के साथ उन्हें देश की सबसे अमीर महिला चुना था। उसी साल Forbes Magazine ने भी उन्हें दुनिया की 54वीं सबसे ताकतवर महिला के रूप में चुना था।